अगर आप भी यूरिन लिकेज से होती है शर्मिंदा तो इन तीन तरीकों से पाएं राहत | Epatrakar

0
75


बढ़ती हुई उम्र के साथ महिलाओं के शरीर में बहुत से बदलाव आते है जिससे उन्हें कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता है। इन्हीं समस्याओं में से एक है यूरिन लिकेज। इस समस्या से परेशान ज्यादातर महिलाओं का अपने यूरिन पर कंट्रोन नही रहता है जिस कारण दौड़ते, छींकते या खांसते समय उनके यूरिन की कुछ बूंदें निकल जाती हैं। कई बार यह शर्मिंदगी का कारण भी बन जाती है। इस समस्या से परेशान महिलाएं कुछ नेचुरल तरीके अपनाकर इसका उपचार कर सकती है।

उपचार से पहले महिलाओं के लिए इस समस्या के कारण जानना बहुत ही जरुरी हैं।

– प्रेग्नेंसी या शिशु के जन्म के बाद

-पेल्विक मसल्स के कमजोर होने के कारण आप अपने वेजाइना में काफी ढीलापन महसूस करती हैं। इस कारण आपके ब्लैडर मसल्स कमजोर हो जाती है या फिर ज्यादा ओवर एक्टिव हो जाती हैं।

– कई बार सर्जरी, डिलीवरी, मेनोपॉज, ओवरएक्टिव ब्लैडर, यूरिन मार्ग में इंफेक्शन व कब्ज के कारण भी पेल्विक एरिया की मसल्स कमजोर हो सकती है।

कीगल एक्सरसाइज
प्रोग्नेंसी या डिलिवरी के बाद होने वाली इस समस्या पर कंट्रोल पाने के लिए कीगल एक्सरसाइज की काफी मदद करती है। इसके साथ ही यह महिलाओं के पेल्विक एरिया में ब्‍लड सर्कुलेशन को बढ़ाकर पेल्विक एरिया की मसल्‍स को मजबूत रखता है।

कीगल एक्‍सरसाइज करते हुए सबसे पहले अपने घुटनों को मोड़ कर आराम से बैठ जाएं। अपना ध्‍यान फोकस करके पेल्विक मसल्‍स को टाइट करके संकुचित करें। इसे 30 से 50 बार दोहराये। इस एक्‍सरसाइज को करते हुए 5 सेकंड के लिए संकुचन और फिर 5 सेकंड के लिए रिलैक्‍स करें। धीरे-धीरे इस समय को बढ़ा कर 10 सेकंड कर दें। ध्‍यान रहें कि एक्‍सरसाइज को हमेशा ब्‍लैडर को खाली करके ही करें नहीं तो आपकी मसल्‍स को कमजोर हो सकती हैं।

मैग्नीशियम और विटामिन डी
यूनिर को कंट्रोल करने के साथ बॉडी की मसल्स को रिलैक्स करने के लिए मैग्नीशियम बहुत ही जरुरी होता है। इससे ब्लैडर मसल्स की ऐंठन को कम करके ब्लैडर को पूरी तरह खाली करने में मदद करती है। शरीर में मैग्नीशियम की मात्रा को पूरा करने के लिए महिलाएं अपनी डाइट में नट्स, सीड्स, केले और दही शामिल करें। विटामिन डी महिलाओं में इस प्रॉब्‍लम को दूर करने में मदद करता है। विटामिन डी के लिए मछली, कस्तूरी, अंडे की जर्दी, दूध और अन्य डेयरी उत्पादों को अपनी डाइट में शामिल करें।

एप्पल साइडर सिरका
एप्पल साइडर सिरका हेल्थ के लिए एक टॉनिक का काम करता है। यह शरीर में से टॉक्सिन को दूर करके ब्लैडर इंफेक्शन को दूर करने में मदद करता है। कई बार अधिक वजन होने के कारण भी यूरिन पर कंट्रोल नही रहता है ऐसे में यह वजन कम करने में भी मदद करता है। इसके लिए 1 गिलास पानी में 1 से 2 चम्मच एप्पल साइडल सिरके को मिलाकर थोड़ा-सा शहद मिलाकर दिन में से 2 से 3 बार रोज लें। ध्यान रखें कि अगर आपके ओवरएक्टिव ब्लैडर है तो इसका सेवन न करें।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here