श्रेयस अय्यर के पास नंबर चार पर खुद को साबित करने का मौका, राहुल का फिर कट सकता है पत्ता!

0
54

भारतीय टीम वेस्टइंडीज के खिलाफ रविवार को जब दूसरे वनडे में मैदान पर उतरेगी तब सभी की नजरें प्रतिभाशाली श्रेयस अय्यर के प्रदर्शन पर लगी होगी जिनके पास चौथे स्थान में जगह पक्की करने का मौका होगा। अय्यर को टी-20 सीरीज में अंतिम एकादश में मौका नहीं मिला था लेकिन वह बारिश से प्रभावित पहले वनडे में टीम का हिस्सा थे। गयाना में हुए इस मैच को 13 ओवर के बाद नहीं खेला जा सका और मुकाबला रद हो गया। अब भारतीय टीम उम्मीद करेगी कि दूसरे वनडे में धूप खिली हो और बारिश से मैच प्रभावित नहीं हो।

इस बात की संभावना काफी कम है कि भारतीय टीम बल्लेबाजी क्रम के साथ कोई छेड़छाड़ करेगी, ऐसे में मुंबई के इस बल्लेबाज के पास दूसरे मैच में अपनी प्रतिभा दिखाने का मौका होगा। टीम में जगह पक्की करने के लिए हालांकि दो मैचों में प्रदर्शन काफी नहीं होगा लेकिन इन मुकाबलों में अच्छी बल्लेबाजी से वह दबाव को कम जरूर कर सकेंगे। अय्यर ने हाल ही में भारत-ए के लिए खेलते हुए वेस्टइंडीज-ए के खिलाफ दो अर्धशतकीय पारी खेली थी। कप्तान विराट कोहली का मार्गदर्शन और उप-कप्तान रोहित शर्मा का साथ मिलने से दिल्ली कैपिटल्स के इस कप्तान की राह आसान हो सकती है।

अय्यर को मध्य क्रम में मौका मिलने का मतलब होगा कि शीर्ष क्रम में शिखर धवन की मौजूदगी में लोकेश राहुल को बेंच पर बैठना होगा। सीरीज के पहले मुकाबले का टीम संयोजन को देखे तो यह पता चलता है कि विश्व कप में शीर्ष क्रम में अच्छी बल्लेबाजी के बाद राहुल को धवन या रोहित की गैरमौजूदगी में ही सलामी बल्लेबाज के तौर पर मौका मिलेगा। केदार जाधव के लिए भी यह सीरीज काफी महत्वपूर्ण है जो खराब प्रदर्शन करने पर टीम से बाहर हो सकते हैं। महाराष्ट्र के इस छोटे कद के बल्लेबाज पर दबाव इसलिए भी ज्यादा होगा क्योंकि शुभमन गिल जैसे प्रतिभाशाली युवा खिलाड़ी लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं। भारतीय क्रिकेट में कई लोगों का मानना है कि जाधव के पास ऊपरी क्रम में बल्लेबाजी के लिए उपयुक्त तकनीक नहीं है और उनके पास आखिरी ओवरों में गेंद को सीमा रेखा के पार पहुंचाने की ताकत भी नहीं है। भारत के लिए बायें हाथ के स्पिनर रन रोकने में कामयाब रहे हैं लेकिन अंतिम एकादश में कुलदीप यादव और रवींद्र जडेजा की एक साथ मौजूदगी से यह देखना दिलचस्प होगा कि इनका पूरा उपयोग कैसे होगा।

भुवनेश्वर कुमार अगर आराम करना चाहेंगे तो नवदीप सैनी को मौका मिल सकता है। पिच अगर स्पिनरों की मुफीद हुई तो युजवेंद्रा सिंह चहल को तेज गेंदबाज खलील अहमद की जगह टीम में शामिल किया जा सकता है। खलील ने पहले वनडे में तीन ओवर में 27 रन लुटाए थे। उनकी छोटी गेंदों पर इविन लुइस ने आसानी से बड़े शॉट लगाए। बारिश के कारण मैच रोके जाते समय लुइस 40 रन पर बल्लेबाजी कर रहे थे। कैरेबियाई टीम चाहेगी की लुइस अपनी लय को बरकरार रखे जबकि क्रिस गेल भी अपनी ख्याति के अनुरूप बल्लेबाजी करें। जमैका का यह विस्फोटक बल्लेबाज पहले वनडे में 31 गेंद में सिर्फ चार रन बना सका था। वेस्टइंडीज चयन समिति ने गेल को उनके घरेलू मैदान पर विदाई मैच में मौका देने से इन्कार कर दिया है तो ऐसे में सीरीज के आखिरी दो मैच उनके शानदार करियर के आखिरी मुकाबले हो सकते हैं।

दोनों टीमें : भारत : विराट कोहली (कप्तान), रोहित शर्मा, शिखर धवन, लोकेश राहुल, श्रेयस अय्यर, मनीष पांडे, रिषभ पंत, रवींद्र जडेजा, कुलदीप यादव, युजवेंद्रा सिंह चहल, केदार जाधव, मुहम्मद शमी, भुवनेश्वर कुमार, खलील अहमद और नवदीप सैनी।

वेस्टइंडीज : जेसन होल्डर (कप्तान), क्रिस गेल, जॉन कैंपबेल, इविन लुइस, शाई होप, शिमरोन हेटमायर, निकोलस पूरन, रोस्टन चेज, फेबियन एलेन, कार्लोस ब्रेथवेट, कीमो पॉल, शेल्डन कॉटरेल, ओशाने थॉमस और केमार रोच।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here