Harayana में Beer हुई सस्ती, इन स्थानों पर रात 1 बजे तक खुले रहेंगे बार, इन प्रदेशों में भी कवायद जारी

0
115

हरियाणा के शराब पीने वालों के लिए अच्छी-बुरी दोनों तरह की खबर है कि एक तरफ यहां Beer 5 रुपए सस्ती मिलेगी, वहीं देसी और अंग्रेजी शराब के दामों में 3 रुपए तक की बढ़ोतरी की गई है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर की अध्यक्षता में हुई मंत्रिमंडल की बैठक में प्रदेश की आबकारी नीति को मंजूरी दी गई। इसके तहत सरकार ने तय किया है कि सस्ती वाली Beer में अल्कोहोल की मात्रा अपेक्षाकृत कम रहेगी। इसके अलावा गुरुग्राम, फरीदाबाद और पंचकूला में बार देर रात 1 बजे तक खुले रहेंगे।

हरियाणा सरकार ने साल 2020-21 के लिए नई आबकारी नीति जारी कर दी है। नई नीति 1 अप्रैल से लागू होगी। नीति के तहत जहां सरकार ने Beer के दाम घटाने का फैसला किया, वहीं देसी और अंग्रेजी शराब के दाम में 3 रुपए तक की बढ़ोतरी भी की है।

1 बजे तक खुले रहेंगे बार

नई नीति के तहत सरकार ने गुरुग्राम, फरीदाबाद और पंचकुला में रात 1 बजे तक बार खुले रखने को मंजूरी दी। सरकार का कहना है कि इससे बीयर और शराब सस्ती होगी क्योंकि शराब ज्यादा देर तक परोसी जाएगी और उससे इनकी बिक्री बढ़ेगी। दरअसल ये फैसला दिल्ली और चंडीगढ़ में देर रात तक पब और बार के खुले रहने के कारण लिया गया है। इतना ही नहीं सरकार ने ये भी फैसला किया कि संचालक 10 लाख रुपए प्रति घंटे के अतिरिक्त वार्षिक लाइसेंस शुल्क का भुगतान करके एक बजे के बाद भी अपने बंदी समय को 2 घंटे तक और बढ़ा सकते हैं।

10 लाख में परमिट

आबकारी नीति के तहत यदि कोई व्यक्ति किसी मॉल में शराब दुकान खोलना चाहता है तो उसकी परमिट फीस 10 लाख होगी। लेकिन उसे इसी शर्त पर परमिट मिलेगा कि उसे दुकान में केवल विदेशी महंगी शराब ही रखना होगी।

देसी शराब का कोटा घटाया

सरकार ने शराब कारखानों में देसी शराब का कोटा भी 40 फीसदी से घटाकर 20 फीसदी तक कर दिया है। यानी अब तक शराब कारखाने में बनने वाली देसी शराब का 40 फीसदी शराब आबकारी विभाग बिकवाता था, लेकिन अब से विभान केवल 20 फीसदी शराब ही बिकवाएगा।

ठेकों की संख्या और लाइसेंस फीस

सरकार ने इस साल शराब के ठेकों की संख्या 2500 से बढ़ाकर 2600 करने का फैसला किया। समारोहों एवं पार्टियों में शराब परोसने के लिए एक दिन के अस्थाई लाइसेंस के लिए फार्म एल 12ए को ऑनलाइन किया जाएगा।वहीं 5 स्टार होटलों में एल 4 व एल 5 की लाइसेंस फीस 45 लाख रुपए से घटाकर 25 लाख रुपए वार्षिक की गई है। वहीं फोर स्टार होटलों में बार लाइसेंस फीस 38 लाख रुपए से घटाकर 22.5 लाख रुपए वार्षिक की गई है। गुरुग्राम और फरीदाबाद के थ्री स्टार होटलों को छोड़कर सभी जगह लाइसेंस फीस 20 लाख रुपए से घटाकर 15 लाख रुपए की गई है। गुरुग्राम में यह फीस 20 लाख जबकि फरीदाबाद में 17 लाख रुपए होगी।

बड़े ठेकेदारों का एकाधिकार खत्म होगा

हरियाणा सरकार ने नई नीति के तहत जो निर्णय लिए उससे बड़े शराब ठेकेदारों का एकाधिकार समाप्त होगा।सरकार ने अब 6 ठेकों का जोन घटाकर 2 ठेकों का जोन निर्धारित किया है। ऐसे में एक शराब ठेकेदार अब केवल 2 ही ठेके ले सकेगा। पहले एक ठेकेदार 6-6 ठेके ले लेता था।

उत्तरप्रदेश, हिमाचल में भी कवायद

हरियाणा की नई नीति आने के बाद अब दूसरे प्रदेशों में आबकारी नीति को लेकर अन्य प्रदेशों में भी कवायद शुरू हो गई है। सरकारों से मिले संकेतों के मुताबिक उत्तरप्रदेश, मध्यप्रदेश, झारखंड सहित अन्य कुछ प्रदेशों में शराब के दाम बढ़ाने की तैयारी है। उत्तरप्रदेश में 10 से 15 फीसदी और मध्यप्रदेश में 22 से 25 फीसदी दाम बढ़ाने की तैयारी है। झारखंड में भी शराब के दाम बढ़ाए जा सकते हैं।

वहीं पर्यटन के लिहाज से हिमाचल प्रदेश में शराब के दाम घटाए जा सकते हैं। दाम कम करने वाले राज्यों में पंजाब का नाम भी लिया जा रहा है। पंजाब में तो सरकार शराब की होम डिलेवरी के प्रस्ताव पर भी काम कर रही है।

इन प्रदेशों में सबसे ज्यादा खपत

केंद्र सरकार के पिछले सर्वे के अनुसार देश में छत्तीसगढ़, त्रिपुरा, पंजाब, अरूणाचल प्रदेश और गोवा वे राज्य हैं जहां शराब की खपत सबसे ज्यादा है। इन प्रदेशों में केवल शराब ही नहीं बल्कि अन्य नशीले पदार्थों का सेवन भी सबसे ज्यादा होता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here