Brexit: बोरिस जॉनसन का वादा, 31 अक्टूबर तक हर हाल में होकर रहेगा ब्रेक्जिट

0
48

रेलवे स्टेशन पर मुफ्त इंटरनेट सेवा उपलब्ध कराने की कड़ी में रेलवे ने देश के और 46 स्टेशनों को Wi-Fi से जोड़ दिया है। इसके साथ ही अब तक 4262 रेलवे स्टेशन को मुफ्त वाई-फाई इंटरनेट से जोड़ा जा चुका है। रेल मंत्री पीयूष गोयल ने ट्वीट कर इसके बारे में जानकारी दी है। जिन 46 स्टेशनों को मुफ्त इंटरनेट सुविधा से जोड़ा गया है इनमें असम, कर्नाटक, केरल, मध्य प्रदेश, बिहार, उत्तर प्रदेश, आंध्र प्रदेश, छत्तीसगढ़, हरियाणा, महाराष्ट्र, तमिलनाडु, ओडिशा, पंजाब, राजस्थान, और पश्चिम बंगाल के स्टेशन हैं। रेलवे स्टेशनों को मुफ्त वाई-फाई इंटरनेट सुविधा से जोड़ने के लिए रेलवे गूगल से भी मदद ले रहा है।

कैसे कनेक्ट करें डिवाइस
जिन स्टेशनों पर Wi-Fi की सुविधा है वहां आप अपने स्मार्टफोन या लैपटॉप पर मुफ्त वाई-फाई इंटरनेट का इस्तेमाल कर सकते हैं। अपने डिवाइस को Wi-Fi से जोड़ने के लिए सबसे पहले आपको डिवाइस का Wi-Fi ऑन करना होगा। इसके बाद आपका डिवाइस फ्री वाई-फाई नेटवर्क सर्च करेगा। अब आपको एक नेटवर्क दिखेगा Railwire Network। इसे सलेक्ट करना होगा। इसके कनेक्ट होने के बाद आपके डिवाइस पर Railwire का होम पेज ओपन होगा। यहां आपको मोबाइल नंबर डालना होगा और तब आपको एक वन टाइम पासवर्ड (ओटीपी) मिलेगा। अब ओटीपी डालने पर आपका डिवाइस उस रेलवे स्टेशन की फ्री वाई-फाई सुविधा से जुड़ जाएगा।

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने कहा है कि ब्रिटेन 31 अक्टूबर तक हर हाल में यूरोपीय संघ (ईयू) से अलग हो जाएगा। उन्होंने कहा कि वह ईयू से ब्रेक्जिट के लिए समय बढ़ाने को नहीं कहेंगे।

प्रधानमंत्री ने गुरुवार को अपने ऑफिशियल ट्विटर हैंडल पर एक वीडियो पोस्ट करते हुए कहा, ”मैं इस बात को लेकर आश्वस्त हूं कि हम किसी भी परिस्थिति में 31 अक्टूबर तक यूरोपीय संघ से अलग हो जाएंगे ताकि हमारा देश प्रगति कर सके।”

जॉनसन ने कहा कि वह पिछले पांच सप्ताह से नये डील के लिए बातचीत कर रहे हैं। ब्रिटिश प्रधानमंत्री के मुताबिक ईयू के नेता डील पर बात करने को इच्छुक हैं क्योंकि वे जानते हैं कि डील हो या ना हो हम 31 अक्टूबर तक उस ब्लॉक से अलग हो जाएंगे।

इससे पहले बुधवार को जॉनसन ने संसद भंग कर 15 अक्टूबर को चुनाव कराने का प्रस्ताव रखा था, जिसे ब्रिटिश सांसदों ने खारिज कर दिया। हाउस ऑफ कॉमंस में ब्रिटिश प्रधानमंत्री के प्रस्ताव को जरूरी दो-तिहाई सदस्यों (434) का समर्थन नहीं मिल पाया था।

वहीं, जॉनसन ने कहा है कि वह ईयू से ब्रेक्जिट में और देरी करने के लिए नहीं कहेंगे। उन्होंने कहा कि वह अपने पद से इस्तीफा भी नहीं देंगे ताकि अक्टूबर चुनाव की नौबत आ जाए।

जॉनसन ने वीडियो में कहा है, ”कल रात, जेरेमी कॉर्बिन (विपक्ष के नेता) और अन्य ने सौदे की संभावना को कमजोर करने के लिए मतदान किया। उनकी ओर से लाया गया नया कानून सरकार को इस बात के लिए मजबूर करने की कोशिश है कि वह ब्रसेल्स के पास जाए और 2020 तक या ब्रसेल्स की मांग तक मामले को विलंबित करने का आग्रह करे।”

उन्होंने कहा कि ब्रिटेन के लोग बिना किसी मतलब के ब्रेक्जिट में और देरी नहीं चाहते हैं। जॉनसन ने कहा कि ब्रेक्जिट में बिना मतलब देरी के लिए ब्रसेल्स अरबों की मांग कर सकता है। ब्रिटिश प्रधानमंत्री ने कहा, ”मैं ऐसा करने से इंकार करता हूं।” 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here