2300 करोड़ के धोखाधड़ी मामले में हुई फोर्टिस के सीईओ मलविंदर सिंह की गिरफ़्तारी

0
67

नई दिल्ली। रैनबैक्सी के पूर्व सीईओ मलविंदर सिंह को भी दिल्ली पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। पुलिस अधिकारियों ने गुरुवार देर रात लुधियाना से मलविंदर को गिरफ्तार किया है। इसके अलावा शिविंदर सिंह को पुलिस पहले ही धोखाधड़ी और ठगी के मामले में गिरफ्तार कर चुकी है। इन लोगों के ऊपर 2,300 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी करने का आरोप है। इस मामले में यह पांचवी गिरफ्तारी की गई है।

 कंपनी के पूर्व सीएमडी सुनील गोधवानी, कवि अरोड़ा तथा अनिल सक्सेना को भी गिरफ्तार किया जा चुका है। पुलिस अधिकारियों ने जानकारी देते हुए कहा कि मालविंदर के खिलाफ एक लुकआउट नोटिस जारी किया गया था क्योंकि वह लंबे समय से फरार चल रहा था। इकोनॉमिक ऑफेंस विंग के द्वारा शिविंदर को गिरफ्तार किया गया है। शुक्रवार सुबह को इन लोगों की औपचारिक रुप से गिरफ्तारी की जाएगी।

रेलिगेयर के एक सीनियर मैनेजर की शिकायत पर दिल्ली पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा ने दोनों भाइयों पर एफआईआर दर्ज कराई गई थी। इस मामले में सिंह ब्रदर्स के अलावा, आरईएल के फॉर्मर सीएमडी सुनील गोधवानी और स्टॉक ब्रोकर एन. के. घोषाल के खिलाफ भी मामला दर्ज किया गया। ईडी ने मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में सिंह भाइयों से जुड़े कई ठिकानों पर अगस्त में छापेमारी की थी।

रेलिगेयर के अधिकारी ने जानकारी देते हुए बताया कि इन लोगों ने करोड़ों रुपए की धोखाधड़ी की है। इसके साथ ही कई फाइनेंशिय़ल ट्रांजेक्शन भी किए गए हैं। इसके साथ ही सिंह ब्रदर्स ने अपने अन्य साथियों के साथ मिलकर 2016 में वित्तीय घोटाले को अंजाम दिया था, जिसके बारे में काफी समय से जांच चल रही थी।

इस मामले की जांच लंबे समय से चल रही थी। छानबीन के दौरान गड़बड़ी पाई गई और फिर पुलिस ने दोनों भाईयों से पूछताछ की। पुलिस पिछले 15 दिनों से मलविंदर और शिवंदर से पूछताछ कर रही थी, जिसके बाद अब उनकी गिरफ्तारी की गई है। पुलिस ने शिविंदर सिंह, सुनील गोडवानी, कवि अरोड़ा और अनिल सक्सेना को गिरफ्तार किया है। उनपर आईपीसी की धारा 409 और 420 के चार्ज लगाए गए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here