ICC World Cup 2019: बारिश में बह गए Star India के 100 करोड़ रुपये!

0
288

इंग्लैंड में हो रहे हैं क्रिकेट के महाकुंभ यानी ICC Cricket Word Cup 2019 में अभी तक कुल 4 बारिश की वजह से रद्द हो चुके हैं. वहीं, भारत और पाकिस्तान का मैच भी बारिश की वजह से पूरा नहीं खेला जा सका. बारिश से प्रभावित मैच में भारत ने डकवर्थ लुईस मैथड से 89 रन से हराया, लेकिन बारिश से प्रभावित इन मैचों से फैंस के साथ-साथ ब्रॉडकास्टर स्टार इंडिया भी लगातार मायूस हो रहा है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, स्टार इंडिया को बारिश से अब तक करीब 100 करोड़ रुपये का घाटा हो चुका है. हालांकि, इसकी भरपाई इंश्योरेंस से पूरी हो जाती है. आपको बता दें कि रविवार को हुए भारत-पाकिस्तान मैच को छोड़कर भारत के मैच अभी तक 65-75 करोड़ रुपये में बिके हैं. इस दौरान स्टार ने 10 सेकेंड के प्रति स्लॉट को औसत 15 लाख रुपये में बेचा है. वहीं अन्य टीमों के मैच करीब 5-7 करोड़ रुपये में बिके हैं.

एक अनुमान के मुताबिक, भारत-पाकिस्तान के मैच से स्टार इंडिया को करीब 125 करोड़ रुपये मिलने उम्मीद की थी, जिसमें प्रति 10 सेकेंड के स्लॉट की औसत कीमत 20-22 लाख रुपये है. लेकिन बारिश ने कंपनी को बड़ा नुकसान पहुंचाया है.

स्टार इंडिया अपने नेटवर्क पर मैचों को 7 भाषाओं में प्रसारित कर रही हैं. उसे इस वर्ल्ड कप के दौरान ऐड से 1,250-1,350 करोड़ रुपये की कमाई की उम्मीद थी.

स्पॉन्सरशिप की बिक्री के बाद स्टार के पास करीब 20-25 फीसदी स्लॉट स्पॉट के लिए बचे थे. आमतौर पर इन्हें भारत के मैचों के दौरान प्रीमियम पर बेचा जाता है.

हुआ 100 करोड़ रुपये का घाटा- अंग्रेजी के बिजनेस न्यूजपेपर इकोनॉमिक टाइम्स में छपी खबर के मुताबिक, स्टार इंडिया को ऐडवर्टाइजिंग से होने वाली आमदनी में अभी तक करीब 100 करोड़ रुपये का घाटा हुआ है. हालांकि इसका काफी हिस्सा इंश्योरेंस से वापस आ जाएगा, लेकिन इस पेमेंट के मिलने में समय लगता है और इसमें स्टार इंडिया को भी नुकसान का कुछ हिस्सा उठाना पड़ेगा.

बारिश से और बढ़ेगा घाटा- अगर बारिश से भारत के आने वाले मैच रद्द हो जाते हैं. तो उससे स्टार इंडिया का घाटा और बढ़ना लगभग तय है. दरअसल विज्ञापन देने वाली कंपनियों ने हर मिनट के हिसाब से पैकेज खरीदे हुए है. ऐसे में स्टार इंडिया को हर मिनट के हिसाब से लाखों रुपये का घाटा होता है. आपको बता दें कि स्टार इंडिया ने 8 साल के आईसीसी इवेंट्स के राइट्स 1.85 अरब डॉलर में खरीदे थे, जिसमें से 50 करोड़ डॉलर या 27 फीसदी इस वर्ल्ड कप के लिए था.

एक्सपर्ट्स बताते हैं कि कई बार मैच के पैसे इंश्योरेंस कंपनियां नहीं देती है. उदाहरण के लिए नियो स्पोर्ट्स को करीब 10 साल पहले गोवा और मुंबई में बारिश की वजह से रद्द हुए दो मैच के लिए अभी तक पेमेंट नहीं मिली है. नियो ने 48 करोड़ रुपये का क्लेम किया था.

ब्रॉडकास्टर के लिए यह दोहरा झटका है. उन्हें आईसीसी को भुगतान करना होता है, लेकिन ऐडवर्टाइजर उन्हें बारिश की वजह से रद्द हुए मैचों के लिए भुगतान नहीं कर रहे हैं.

इंश्योरेंस कंपनियां भी पेमेंट करने में काफी समय लेती है और वे क्लेम को जितना संभव हो सके, उतना कम रखने की कोशिश करती हैं.

इसके इंश्योरेंस लागत और कई और खर्चें भी शामिल होते हैं, जो क्लेम की राशि को 8-10 फीसदी तक कम कर देते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here