COVID-19: अफवाहों पर ध्यान न दें, पैनिक खरीदारी से बचें और भीड़ का हिस्सा न बनें

0
240

कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को लेकर पूरे देश में दहशत का माहौल है। कोरोना को लेकर लोगों में सरकार अलग-अलग माध्यमों से जागरूकता फैला रही है। बावजूद इसके लोग संयम और सावधानी बरतने की बजाय पैनिक होते दिख रहे हैं। सरकार स्पष्ट कर चुकी है कि कोरोना से भयभीत या फिर पैनिक होने की जरूरत नहीं है, बस खुद को भीड़-भाड़ वाली जगह से दूर रखना है और कुछ दिनों तक सोशल डिस्टेंस कायम रखना है। मगर फिर भी देश की बहुत बड़ी आबादी है जो सरकार की इस चेतावनी को धता बता रही है और कोरोना के खिलाफ जंग को कमजोर कर रही है। 

दरअसल, सरकार कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए एडवाइजरी जारी कर चुकी है कि लोग भीड़-भाड़ वाली जगहों से बचे। जब तक बहुत जरूरी नहीं हो, घर से बाहर न निकलें। मगर लोग हैं कि मानने का नाम ही नहीं ले रहे है। पीएम मोदी भी राष्ट्र के नाम संबोधन में कह चुके हैं कि अस्पतालों में जब तक इमरजेंसी न हो तब तक न जाएं और दैनिक जरूरत की चीजों की खरीदारी के लिए हड़बड़ी न करें। पीएम मोदी ने स्पष्ट कहा था कि देश में किसी भी चीज की कमी नहीं है और कोरोना को देखते हुए पैनिक बाईंग न करें। मगर यूपी के बनारस में इसके विपरीत नजारा देखने को मिल रहा है। 

बनारस के अस्पतालों से लेकर सब्जी बाजार और चौक चौराहों पर लोगों की भीड़ कम नहीं हो रही है। बनारस के सब्जी बाजार में कोरोना से संक्रमण की चिंता किए बगैर लोग पैनिक खरीदारी करते दिखे। सामानों की किल्लत की अफवाहों के चलते लोग बाजार में बड़ी संख्या में दिखे। वहीं, अस्पताल में भी मरीजों की लंबी कतार देखने को मिली। नॉर्मल बीमारी के इलाज के लिए लोग सामान्य दिन की तरह ही अस्पताल में दिखे। चौक-चौराहों पर भी वही नजारे थे। 

कोरोना वायरस की दहशत के कारण बाजार बंद रहने की अफवाह पर लोगों ने घरेलू सामान की खरीदारी तेज कर दी है। सरकार की ओर से किसी मंडी या बाजार को बंद करने का कोई निदेर्श नहीं है, फिर भी लोगों ने दोगुना-तिगुना समान खरीदकर घर में जमा करना शुरू कर दिया है। लखनऊ के आलमबाग बाजार में वैसे तो सन्नाटा पसरा है, लेकिन गुरुवार की अपेक्षा शुक्रवार को कुछ लोगों ने ज्यादा सब्जियां खरीदी हैं। आलू के दुकानदार रमजान ने बताया, ‘कल से हमारे यहां भीड़ ज्यादा बढ़ी है। जो ग्राहक दो-तीन किलो आलू ले जाते थे, वे आज 10 किलो ले जा रहे हैं।’

वहीं राशन की दुकानों में काफी भीड़ देखने को मिल रही है। अफवाह के कारण सब्जी के दाम भी बढ़े हुए हैं, लेकिन लोग मजबूरी में महंगा होने पर भी ज्यादा सामान खरीद रहे हैं। फतेहगंज गल्ला मंडी में शुक्रवार को रोज की अपेक्षा अच्छी खासी भीड़ नजर आई। राशन दुकानदार मनीष अग्रवाल ने बताया कि जो लोग महीनेभर का राशन लेते थे, वे लोग 6 माह का राशन ले रहे हैं। उन्होंने अफवाह की बात को खारिज करते हुए कहा कि दुकानें बंद करने का कोई आदेश तो नहीं आया है, फिर भी कुछ दुकानदार भीड़-भाड़ से बचने के लिए एहतियातन दुकान नहीं खोल रहे

यहां आपको बताना जरूरी है कि कोरोना वायरस से पूरी दुनिया ग्रसित है। इसका अब तक इलाज नहीं मिल पाया है। मगर अगर आप इससे बचना चाहते हैं तो आपको फिलहाल सोशल डिस्टेंस कायम करना होगा। भीड़ वाली जगहों से पहरेज करना होगा और बिना जरूरत के घर से बाहर निकले से बचना होगा। साथ ही सोशल मीडिया पर चल रहे कोरोना वायरस से जुड़े अफवाहों से भी परहेज करने की जरूरत है। किसी तरह की अफवाह में न आएं और पैनिक खरीदारी करने से बचें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here