अपनी ही रिवॉल्वर से खुदकुशी वाले DCP विक्रम कपूर के सुसाइड नोट में बड़ा खुलासा

0
99

फरीदाबाद में तैनात में एक डीसीपी ने बुधवार सुबह अपने आवास में सर्विस रिवाल्वर से गोली मारकर आत्महत्या कर ली. पुलिस ने डीसीपी के घर से एक सुसाइड नोट भी बरामद किया है. जिसमें उसने एक इंस्पेक्टर और उसके एक साथी पर परेशान करने का आरोप लगाया है. पुलिस के मुताबिक एनआईटी के डीसीपी विक्रम कपूर ने सेक्टर 30 पुलिस लाइन के अपने सरकारी निवास में बुधवार सुबह करीब 6 बजे अपनी सर्विस रिवॉल्वर से अपने सर में गोली मारकर ख़ुदकुशी कर ली.

विक्रम कपूर मूल रूप से कुरुक्षेत्र के रहने वाले थे, 1983 में एएसआई के पद पर हरियाणा पुलिस में भर्ती हुए थे और लगातार मिलने वाले प्रमोशन से फ़िलहाल एनआईटी के डीसीपी के पद तक पहुंचे थे. सुबह घरवालों ने गोली चलने की आवाज सुनी तो भागकर विक्रम के कमरे में गए, घरवालों ने देखा कि विक्रम कपूर के गोली लगी है और उन्होंने मौके पर ही दम तोड़ दिया.

पुलिस के अफसरों ने आकर जांच शुरू की तो पुलिस को विक्रम के शव के पास एक सुसाइड नोट मिला, जिसमें उन्होंने फरीदाबाद पुलिस के इंस्पेक्टर अब्दुल सईद पर ब्लैकमेल करने का आरोप लगाया है. साथ ही उन्होंने अपने सुसाइड नोट में अन्य शख्स नाम भी लिखा है. पुलिस के मुताबिक आरोपी अब्दुल सईद फरीदाबाद के भूपानी थाने में एसएचओ के पद पर तैनात है. पुलिस के मुताबिक इंस्पेक्टर से पूछताछ की जा रही हैं. 

विक्रम कपूर के साथ काम कर चुके रिटायर्ड अफसर और कुछ पड़ोसियों का कहना है कि वो खुशमिजाज इंसान थे, कभी किसी परेशानी का जिक्र उन्होंने नहीं किया. विक्रम कपूर के दो बेटे है, एक बेटा और पत्नी के साथ वो यही रहते थे, पुलिस ने घर से वो सर्विस रिवॉल्वर बरामद कर ली है, जिससे विक्रम सिंह ने खुद को गोली मारी है. फिलहाल पुलिस इस मामले में इंस्पेक्टर अब्दुल सईद और डीसीपी के परिवार समेत कई लोगों से पूछताछ कर रही है. जिसके बाद साफ होगा कि आखिरकार ब्लैकमेल करने की असल वजह क्या है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here