दिल्ली ट्रिपल मर्डर के आरोपियों ने किए कई सनसनीखेज खुलासे

0
290

राजधानी दिल्ली के वसंत विहार अपार्टमेंट में हुई दंपति बुजुर्ग और एक महिला की हत्या के मामले को सुलझा लिया है। ट्रिपल मर्डर केस में गिरफ्तार आरोपियों प्रीति व मनोज ने पुलिस की पूछताछ में चौंकाने वाले खुलासे किए हैं। आरोपी प्रीति ने पुलिस को बताया है कि उसने मनोज के साथ मिलकर व्यापार शुरू किया था जो घाटे में चला गया। घाटा पूरा करने के लिए दोनों ने टीवी पर आने वाले अपराध के सीरियल को देखकर आठ दिन तक हत्याकांड की प्लानिंग की। इस दौरान उन्होंने वारदात वाली जगह की दो दिन रेकी की और बाद में घटना को अंजाम दे डाला।

आरोपियों ने 8 दिन की प्लानिंग : पुलिस पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि उन्होंने 15 जून से पीड़ितों के बारे में जानकारी जुटानी शुरू की। जानकारी जुटाने के बाद प्रीति 17 जून को उनके घर पहुंची। जहां उसने दोनों बुजुर्गों से मुलाकात की। प्रीति ने 17 जून को बुजुर्ग दंपति का विश्वास जीतने के लिए उनकी बेटी से भी फोन पर बात की। बात होने के बाद वह पूरी रात बुजुर्गों के घर में ही रुकी और खुशबू से दोस्ती की। घर के बाहर की रेकी करने के लिए मनोज के साथ 21 जून को फिर पहुंची। लेकिन इस दिन वह बुजुर्गों के घर नहीं गई। 

बाइक के चलते फेल हो गई प्लानिंग : पुलिस की जांच में सामने आया है कि आरोपियों ने वारदात वाले दिन अपने फोन घर में ही छोड़ दिए थे। पुलिस ने जब दोनों को गिरफ्तार किया तो आरोपियों ने उन्हें हत्या व लूट से इंकार कर लिया। आरोपियों ने पुलिस से कहा कि कॉल डिटेल व लोकेशन देख लीजिए हम अपने घर पर ही थे। लेकिन वारदात में इस्तेमाल बाइक के चलते दोनों की प्लानिंग फेल हो गई। सीसीटीवी में तीनों दिन आरोपी बाइक पर थे, जो सीसीटीवी में कैद हो गई थी।.

पहले खुद घर में गई थी प्रीति : मामले की जांच कर रहे एसीपी जसबीर, इंस्पेक्टर नीरज चौधरी, एसआई सुरेन्द्र शर्मा, मनोज यादव, सुरेन्द्र राणा की टीम को आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि वारदात वाले दिन प्रीति व मनोज दोनों बाइक से मौके पर पहुंचे। रेकी के दौरान दोनों ने घर के आस-पास लगे सीसीटीवी कैमरों की लोकेशन देखी हुई थी। जिसके चलते दोनों ने बाइक से उतरते ही अपने चेहरे ढक लिए। प्रीति अकेले ही घर में चली गई। जबकि मनोज अपनी बाइक घर से कुछ दूरी तक खड़ी करने के लिए चला गया। प्रीति ने खुशबू से गेट खुलवाया जब प्रीति अंदर पहुंची तो उसने पाया कि शशि माथुर भी जागी हुई थी। प्रीति ने दोनों से बात शुरू की और चाय बनवाई। चाय पीने के दौरान उसने मनोज के बारे में बताया। शशि ने मनोज को घर बुलाने के लिए बोल दिया। .

कोल्ड़ ड्रिंक में शराब लेकर पहुंचा मनोज : प्रीति के बुलाने पर मनोज भी घर के अंदर दाखिल हो गया। मनोज अपने साथ एक कोल्ड़ ड्रिंक की बोतल लेकर आया था। आरोपी मनोज ने कोल्ड ड्रिंक में शराब मिलाई हुई थी। मनोज वहां पहुंचा तो उसने सबको कोल्ड़ ड्रिंक पीने के लिए दी। लेकिन शाशि माथुर ने कोल्ड ड्रिंक पीने से मना कर दिया।.

घर के चाकू से ही की हत्या : मनोज जब खुशबू के साथ कोल्ड़ ड्रिंक पी रहा था तो प्रीति अपने लिए गिलास लेने के बहाने रसोई में गई। जहां उसने वहां रखे दो चाकूओं को उठाया और बाहर आ गई। प्रीति से चाकू लेकर मनोज ने खुशबू की हत्या की दी। दोनों ने प्रीति पर करीब 35 वार किए। बाद में दोनों बुजुर्गो के बेडरुम में गए और उनकी हत्या कर दी।

आवाज न हो इसलिए चला दिया था टीवी : आरोपियों ने वारदात के दौरान खुशबू व बुजुर्ग शोर न मचा दे, इसलिए टीवी चला दिया था। शनिवार को क्रिकेट विश्वकप में भारत व अफगानिस्तान का मैच आया था। मनोज ने टीवी पर मैच लगाकर उसकी आवाज तेज कर दी। ताकि लोगों को यह लगे की घर में मौजूद लोग मैच देख रहे हैं और हत्याकांड व लूट के दौरान किसी की आवाज घर से बाहर न जाए। 

2.30 घंटे तक घर में रहे मौजूद : आरोपी करीब 2.30 घंटे तक पीड़ितों के घर में मौजूद रहे। दोनों ने करीब 1.20 तक सभी की हत्या कर दी। हत्या के बाद घर में रखी सभी अलमारी, संदूक और बिस्तर खंगाले। आरोपियों ने घर में मौजूद लाखों रुपये की ज्वैलरी और कैश बैग में डाला और फरार हो गए। .

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here