‘केम छो ट्रम्प’ नहीं ‘नमस्‍ते ट्रंप’ कहिएगा जनाब, बदल गया अहमदाबाद के कार्यक्रम का नाम!

0
234

‘केम छो ट्रम्प’ नहीं ‘नमस्‍ते ट्रंप’ कहिएगा जनाब! जी हां, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के स्वागत में 24 फरवरी को गुजरात के अहमदाबाद में होने वाले कार्यक्रम का नाम केम छो ट्रम्प नहीं, बल्कि नमस्ते ट्रम्प होगा। ऐसा क्‍यों किया गया, इसकी जानकारी नहीं दी गई है। हालांकि, खबरों के मुताबिक, मोदी सरकार ने कार्यक्रम को राष्ट्रीय फलक देने के लिए नाम में बदलाव किया है।

मीडिया की खबरों के अनुसार, केम छो ट्रम्प की बजाय कार्यक्रम को ‘नमस्ते ट्रंप’ रखने का फैसला किया गया है। इसकी वजह यह है कि इस कार्यक्रम को किसी क्षेत्र या समुदाय विशेष से जोड़कर न देखा जाए। इस कार्यक्रम को राष्‍ट्रीय फलक देने की कोशिश की जा रही है, क्‍योंकि अमेरिका के राष्‍ट्रपति का किसी देश के दौरे पर जाना वैश्विक मुद्दा होता है। बताया जा रहा है कि इसके लिए राज्य सरकार को जरूरी निर्देश और इसके अनुरूप आवश्यक प्रचार सामग्री तैयार करने को कह दिया गया है।

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अहमदाबाद में होने वाले रोड शो में सुरक्षा के पुख्‍ता इंजताम किए गए हैं। इस कार्यक्रम के लिए 25 वरिष्ठ आइपीएस अफसरों के नेतृत्व में 10,000 से अधिक पुलिसकर्मियों को तैनात किया जाएगा। पहली बार दो दिवसीय यात्रा पर भारत आ रहे ट्रंप अहमदाबाद में एक रोड शो में शामिल होंगे और साबरमती आश्रम का दौरा भी करेंगे। इसके साथ ही ट्रंप का मोटेरा में नवनिर्मित क्रिकेट स्टेडियम के उद्घाटन का भी कार्यक्रम है। इससे पहले ट्रंप, ट्रंप की पत्नी मेलानिया ट्रंप और प्रधानमंत्री मोदी एक साथ लगभग 22 किलोमीटर लंबा रोड शो करेंगे। यह अहमदाबाद अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से शुरू होकर साबरमती आश्रम और इंदिरा ब्रिज होते हुए मोटेरा स्टेडियम तक जाएगा। इस दौरान ड्रोन से भी नजर रखी जाएगी।

भारत को अमेरिकी राष्‍ट्रपति के भारत दौरे से काफी उम्‍मीद है। उम्‍मीद जताई जा रही है कि इस दौरान भारत और अमेरिका के बीच कई महत्‍वपूर्ण समझौते हो सकते हैं। इधर, दक्षिण एशियाई मामलों के अमेरिकी विशेषज्ञ राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की भारत यात्रा को लेकर बड़ी उम्मीदें लगाए बैठे हैं। उनका कहना है कि यह दौरा कई मायनों में पूरी तरह सफल होगा। हालांकि, पिछले दिनों डोनाल्‍ड ट्रंप ने साफ कर दिया था कि अगर अमेरिका के हितों के मुताबिक होगा, तो ही हम समझौता करेंगे। भारत के अधिकारियों के मुताबिक, भी दोनों देशों के प्रतिनिधियों के बीच बात तो हो रही है, लेकिन समझौता होने को लेकर अभी कुछ नहीं कहा जा सकता।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here