भारतीय गेंदबाजों को इस कैरेबियाई बल्लेबाज से बचकर रहना होगा

0
41

भारत और वेस्टइंडीज के बीच तीन टी20 मैचों की सीरीज 6 दिसंबर से हैदराबाद में शुरू होगी। इस सीरीज में भारत का पलड़ा भारी रहने की उम्मीद है क्योंकि कैरेबियाई टीम क्रिस गेल, ड्वेन ब्रावो और आंद्रे रसेल जैसे कई प्रमुख खिलाड़ियों के बगैर मैदान में उतरेगी। इसके बावजूद भारतीय गेंदबाजों को एक कैरेबियाई बल्लेबाज इविन लुईस से बचकर रहना होगा।

टीम इंडिया आईसीसी टी20 रैंकिंग्स में पांचवें क्रम पर है जबकि वेस्टइंडीज टीम 10वें क्रम पर है। किरोन पोलार्ड की युवा टीम के सामने विराट कोहली के जांबाजों को हराना कड़ी चुनौती होगी। अगले साल होने वाले टी20 वर्ल्ड कप के मद्देनजर वेस्टइंडीज टीम प्रबंधन अलग-अलग टीम कॉम्बिनेशनल आजमा रहा है इसी के चलते उसने युवा प्रमुख बल्लेबाज शाई होप को भी टी20 टीम में जगह नहीं दी है। होप इस समय टीम के सबसे प्रमुख बल्लेबाज माने जाते हैं। यूनिवर्स बॉस क्रिस गेल ब्रेक पर है जबकि आंद्रे रसेल को चोट से उबरने के बावजूद टीम में नहीं लिया जाना हैरानीभरा निर्णय है। आईपीएल 2019 में रसेल का प्रदर्शन धमाकेदार रहा था। ड्वेन ब्रावो ने कहा था कि वे इंटरनेशनल क्रिकेट में वापसी के लिए तैयार है इसके बावजूद उन्हें टीम में नहीं लिया गया है।

भारत के खिलाफ लगा चुके दो शतक :

भारत को बाएं हाथ के विस्फोटक ओपनर लुईस से बचकर रहना होगा क्योंकि इस बल्लेबाज का भारत के खिलाफ सबसे छोटे फॉर्मेट में रिकॉर्ड शानदार रहा है। 27 साल के लुईस ने अपने 26 इंटरनेशनल टी20 मैचों के करियर में दो शतक लगाए और उन्होंने ये दोनों शतक भारत के खिलाफ बनाए थे। उन्होंने भारत के खिलाफ 6 मैचों में 48.40 की औसत से 242 रन बनाए हैं। उन्होंने लॉडरहिल में 27 अगस्त 2016 को भारत के खिलाफ 100 रनों की पारी खेली थी, यह उनके इंटरनेशनल करियर का दूसरा ही टी20 मैच था। उन्होंने इसके एक साल बाद 9 जुलाई 2017 को किंग्सटन में नाबाद 125 रन बनाए थे।

अगस्त के निराशाजनक प्रदर्शन को दूर करना चाहेंगे लुईस :

लुईस ने अपने 26 इंटरनेशनल टी20 मैचों के करियर में 30.12 की औसत से 753 रन बनाए हैं। उन्होंने इस दौरान 2 शतक और 5 अर्द्धशतक लगाए हैं। टीम इंडिया ने अगस्त में अमेरिका और वेस्टइंडीज में तीन मैचों की सीरीज खेली थी। लुईस इस सीरीज को कभी याद नहीं रखना चाहेंगे क्योंकि वे इस सीरीज में तीन मैचों में कुल 10 रन ही बना पाए थे। शुरुआती दो टी20 मैचों में तो वे खाता खोले बगैर ही डग आउट में लौटे थे। लुईस उस खराब प्रदर्शन का इस बार भारत में बदला लेना चाहेंगे। वैसे भी कई प्रमुख खिलाड़ियों की अनुपस्थिति की वजह से उनकी जिम्मेदारी बढ़ गई है और अपने प्रदर्शन से इसे यादगार बनाना चाहेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here