तो इस वजह से विराट कोहली की टेस्ट टीम में रोहित शर्मा को नहीं मिल रही जगह

0
113

भारतीय क्रिकेट टीम के वेस्टइंडीज के खिलाफ खेले जाने वाले पहले टेस्ट में टीम इंडिया के प्लेइंग इलेवन का सबको इंतजार था। सभी जानना चाहते हैं कि विश्व कप में धमाकेदार बल्लेबाजी करने वाले रोहित शर्मा को टेस्ट टीम में जगह मिलेगी या नहीं। विराट कोहली और कोच रवि शास्त्री ने रोहित को प्लेइंग इलेवन में जगह नहीं दी। इस पर काफी चर्चा भी हुई लेकिन क्या आप जानते हैं लिमिटेड के ‘हिटमैन’ टेस्ट प्लेइंग इलेवन में जगह क्यों नहीं बना पा रहे हैं।

वेस्टइंडीज के खिलाफ टीम इंडिया के प्लेइंग इलेवन का ऐलान किया गया। छठे नंबर पर बल्लेबाज के लिए दिग्गज रोहित को सही मान रहे थे लेकिन टीम मैनेजमेंट ने हनुमा विहारी को चुना।

टीम मैनेजमेंट का साफ निर्देश

मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद इस बात को कई बार दोहरा चुके हैं कि जिस भी खिलाड़ी को टीम में जगह मिलेगी, उनको खुद को साबित करने का पूरा मौका दिया जाएगा। ऑस्ट्रेलिया में हनुमा विहारी को मयंक अग्रवाल के साथ ओपनिंग करने भेजा गया था। विराट ने यह साफ कर दिया था, बतौर ओपनर हनुमा के प्रदर्शन को ज्यादा तवज्जो नहीं दी जाएगी। इंग्लैंड में डेब्यू करने वाले हनुमा ने अपने पहले ही मैच में अर्धशतक जमाया था। कप्तान और कोच अभी इस खिलाड़ी को और मौके देना चाहते हैं। जहां तक रोहित का सवाल है उनको टेस्ट में खुद को स्थापित करने के कई मौके दिए जा चुके हैं।

उप कप्तान ने बताई हनुमा को चुनने की वजह 

टीम के उप कप्तान अजिंक्य रहाणे ने पहले दिन का खेल खत्म होने पर कहा था, “टीम मैनेजमेंट को लगा कि जडेजा इस विकेट पर बेहतर विकल्प होंगे और हमें एक छठे बल्लेबाज की भी जरूरत थी जो गेंदबाजी करता हो। विहारी इस ट्रैक पर गेंदबाजी कर सकते हैं। तो यही बातें कप्तान और कोच के बीच हुई। यह बहुत ही मुश्किल होता है जब अश्विन और रोहित जैसे खिलाड़ी को बाहर बिठाना पड़े लेकिन यह सबकुछ टीम के लिए ही होता है।”

रोहित की जगह हनुमा को क्यों तरजीह

वेस्टइंडीज के खिलाफ विराट ने रोहित पर हनुमा को इसलिए भी तरजीह दी क्योंकि वह टीम के लिए गेंदबाजी कर सकते हैं। रोहित बल्लेबाजी में भले ही टीम के काम आएं लेकिन वह गेंदबाजी में हनुमा के मुकाबले कमतर नजर आते हैं। टीम से अंदर बाहर होते रहे रोहित ने आखिरी बार साल 2016 में न्यूजीलैंड के खिलाफ गेंदबाजी की थी। इस मैच में उन्होंने सिर्फ 1 ओवर किया था। हनुमा ने इंग्लैंड दौरे पर अपने पहले ही मैच की दूसरी पारी में तीन विकेट हासिल किए थे। इसमें 147 रन पर खेल रहे पूर्व इंग्लैंड कप्तान एलिस्टर कुक का विकेट शामिल था।

रोहित का टेस्ट में औसत प्रदर्शन

साल 2013 में टेस्ट डेब्यू करने वाले रोहित ने अब तक सिर्फ 27 टेस्ट मैच ही खेले हैं। भले ही उन्होंने टेस्ट का आगाज शतक से किया हो लेकिन इस फॉर्मेट में उनके नाम सिर्फ 3 शतक हैं। रोहित जिस कद के खिलाड़ी हैं वह उसके मुताबिक प्रदर्शन नहीं कर पाए हैं। हनुमा की बात करें तो घरेलू क्रिकेट में उन्होंने लगभग 60 की औसत से बल्लेबाजी की है।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here