कमलेश तिवारी मर्डर : शूटर पकड़ से दूर, मिठाई के डिब्बे में मिली रसीद से मिले अहम सुराग

0
56

हिन्दू समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष कमलेश तिवारी की हत्या की साजिश सूरत में ही रची गई थी। इस साजिश में छह लोग शामिल थे। इनमें मौलाना मोहसिन शेख , फैजान और रशीद अहमद पठान को हिरासत में ले लिया है। फैजान ने ही सूरत में मिठाई खरीदी थी। इस मिठाई के डिब्बे से ही लखनऊ पुलिस को महत्वपूर्ण सुराग मिले थे। लखनऊ के खुर्शेदबाग में कमलेश तिवारी की हत्या करने वाले दो शूटरों की पहचान नहीं हो सकी है पर उनके सम्बन्ध में कई महत्वपूर्ण सुराग मिले हैं। डीजीपी ओपी सिंह ने शनिवार सुबह इस हत्याकाण्ड का खुलासा करते हुए दावा किया कि यह हत्या कमलेश के वर्ष 2015 में दिये गए भड़काऊ बयान और प्रखर हिन्दूवादी सोच की वजह से की गई है। कई अन्य बिन्दुओं पर अभी पड़ताल की जा रही है। 
आरोपियों में एक कम्प्यूटर विशेषज्ञ भी
डीजीपी ने बताया कि तीनों आरोपी सूरत के रहने वाले हैं। इनकी उम्र 21 से 25 वर्ष के बीच है। इनमें मोहसिन शेख (24) साड़ी की दुकान पर काम करता है, फैजान (21) जूते की दुकान पर काम करता है। रशीद (25) दर्जी का काम करता है और कम्प्यूटर का अच्छा जानकार है। डीजीपी ने बताया कि इन तीनों की हत्या की साजिश रची थी।
आतंकी संगठन से सम्पर्क नहीं मिला
डीजीपी ने दावा किया कि इन आरोपियों का अभी तक किसी आतंकी संगठन से सम्पर्क नहीं मिला है। ये लोग भड़काऊ बयान से ही नाराज थे। राशिद ने मुख्य साजिश रची थी। मौलाना मोहसिन शेख ने ही रशीद को कमलेश तिवारी का भड़काऊ बयान वाला वीडियो दिखाया था। इसके बाद ही मौलाना ने कहा था कि इसकी हत्या करनी है। 
सीसी फुटेज से मिले थे कई सुराग
लखनऊ पुलिस को सीसी फुटेज से कई सुराग मिल गए थे। इसमें ही हत्यारों का चेहरा साफ दिखा था। ये लोग भगवा वेश में आये थे। इन लोगों के साथ एक फुटेज में महिला भी दिखी थी। इस महिला के बारे में अभी कुछ पता नहीं चला है। 
सूरत के एक युवक पर नजर
डीजीपी के मुताबिक जिन दो लोगों को हिरासत में लेकर छोड़ा गया है। उनमें एक आरोपी का भाई गौरव तिवारी है। वह सूरत में ही रहता है। वह पिछले कुछ समय से कमलेश तिवारी के सम्पर्क में था और उसने ही हिन्दू समाज के लिये सूरत में काम करने को लेकर फोन किया था। उसने कहा था कि वह उसे अपनी पार्टी में शामिल कर ले और सूरत में उसे कोई पद दे दे। 
बिजनौर में मौलाना समेत दो हिरासत में
डीजीपी ने इस बात की पुष्टि की कि कमलेश की पत्नी किरन ने बिजनौर के जिन दो लोगों मौलाना अनवारुल हक और मो. मुफ्ती कालमी पर आरोप लगाया गया था, उन्हें भी हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। इन आरोपियों ने कमलेश की हत्या करने वालों को डेढ़ करोड़ रुपये इनाम देने की बात कही थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here