कर्नाटक में आज बंद, बेंगलुरु में ओला-उबर के सेवाएं रहेंगी बंद

0
194

कर्नाटक में आज बंद का आह्वान किया गया है। राज्य में कन्नड भाषियों को और रोजगार मुहैया कराने के उद्देश्य से आई ‘सरोजनी महिषी रिपोर्ट’ लागू करने की मांग को लेकर कई संगठनों ने गुरुवार को राज्यव्यापी बंद का आह्वान किया है। कर्नाटक बंद की वजह से बेंगलुरु यूनिवर्सिटी में एग्जाम्स को स्थगित करना पड़ा है और आवाजाही पर भी खासा असर देखने को मिल रहा है। इससे पहेल कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने बुधवार को कहा था कि उनकी सरकार कन्नड समर्थक है। इसके साथ ही उन्होंने कई संगठनों द्वारा गुरुवार को बुलाया गया राज्यव्यापी बंद वापस लेने की अपील की। 

बंद के बीच बेंगलुरु में ओला-उबर ड्राइवर और मालिक एसोसिएशन के अध्यक्ष तनवीर ने कहा कि हमने अपने चालकों से आज शाम तक सभी सेवाएं रोकने के लिए कहा है। 70,000 से अधिक गाड़ियां सामान्य तौर पर चलती हैं, मगर आज हम अपनी सर्विस बंद रख रहे हैं। हम बंद का समर्थन करते हैं। 

बुधवार को सीएम येदियुरप्पा ने संगठनों से प्रदर्शन वापस लेने का अनुरोध करते हुए अपील की कि प्रदर्शनकारी आम लोगों के लिए असुविधा पैदा नहीं करें। मुख्यमंत्री ने कहा, ‘जो लोग प्रदर्शन कर रहे हैं अगर वे मुझसे बात करना चाहते हैं तो मैं हमेशा इसके लिए उपलब्ध हूं। हमने पहले ही, जहां तक संभव था रिपोर्ट लागू करने के लिए कई कदम उठाए हैं, और क्या हो सकता है इसपर उनसे (प्रदर्शनकारियों) बातचीत को तैयार हूं।’

कन्नड एवं संस्कृति मंत्री सीटी रवि ने कहा कि सरकार ने सरोजनी महिषी रिपोर्ट लागू करने की प्रतिबद्धता दिखाई है और पहले ही सरकारी क्षेत्र में लागू कर चुकी है। उन्होंने कहा कि निजी क्षेत्र में हम इसे चरणबद्ध तरीके से लागू करने का प्रयास कर रहे हैं।

उल्लेखनीय है कि राज्य में कन्नड भाषी लोगों को रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने के विषय पर विचार करने के लिए पूर्व केंद्रीय मंत्री सरोजनी महिषी के नेतृत्व में समिति 1984 में गठित की गई थी जिसने दो साल बाद अपनी रिपोर्ट सौंप दी थी। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here