उमर अब्दुल्ला ने कहा, AFSPA पर क्यों झूठ बोल रहे हैं अमित शाह और पीडीपी

0
29

नेशनल कांफ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने गुरुवार को भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के दावों को झुठलाया कि जम्मू-कश्मीर में भाजपा ने गठबंधन सरकार का साथ इसलिए छोड़ा क्योंकि पीडीपी सशस्त्र बल (विशेष अधिकार) कानून को कमजोर करना चाहती थी। उन्होंने महबूबा मुफ्ती नीत पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) और शाह पर आफ्स्पा के संबंध में झूठ बोलने का भी आरोप लगाया।

अब्दुल्ला ने ट्वीट किया है, ”अमित शाह और पीडीपी लोगों से आफ्स्पा पर झूठ क्यों बोल रहे हैं। पीडीपी की आफ्स्पा के संबंध में कुछ भी करने की कोई मंशा नहीं है और भाजपा ने आफ्स्पा के कारण गठबंधन नहीं तोड़ा। यह बतौर मुख्यमंत्री फरवरी 2018 में विधानसभा में दिए गए मुफ्ती के बयान में था।”

नेकां उपाध्यक्ष भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के इस दावे पर प्रतिक्रिया दे रहे थे कि पार्टी ने जम्मू-कश्मीर में गठबंधन इसलिए तोड़ा क्योंकि पीडीपी आफ्स्पा खत्म करने की मांग कर रही थी। अब्दुल्ला ने अपने ट्वीट के साथ मुफ्ती के बयान से जुड़ी खबर का लिंक भी साझा किया है।

इससे पहले नेशनल कॉन्फ्रेंस के उपाध्यक्ष उमर अब्दुल्ला ने आम चुनाव के बाद सत्ता में आने पर सशस्त्र बल विशेषाधिकार कानून में संशोधन करने के कांग्रेस के वादे का बीते मंगलवार को स्वागत किया किया था। अब्दुल्ला ने कहा था, ”अगर कांग्रेस ने अपने घोषणापत्र में इसका उल्लेख किया है तो मैं इसका स्वागत करता हूं। कभी नहीं से देर भली। अगर उन्होंने यह 2014 (चुनाव) से पहले किया होता तो हम राज्य के कुछ हिस्सों से आफस्पा को हटाने के लिए काम करते।”

जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि जब वह राज्य के कुछ हिस्सों से आफस्पा को हटाना चाहते थे तो कांग्रेस से कुछ दोस्तों ने उनके खिलाफ साजिश की।अब्दुल्ला ने कहा, ”यह बहुत अच्छी चीज है। काश वह ऐसा तब करते जब मैं राज्य का मुख्यमंत्री था।” उन्होंने कहा, ”तब मैंने आफस्पा को हटाने की मांग की तो कांग्रेस के कुछ दोस्तों ने मेरे खिलाफ साजिश की। मैं उनका नाम नहीं लेना चाहता हूं कि क्योंकि यह ठीक नहीं है। कश्मीर के कुछ वरिष्ठ नेताओं ने मेरी कोशिशों के खिलाफ साजिश की। मुझे (पूर्व केंद्रीय मंत्री पी) चिदंबरम का समर्थन मिला।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here