PoK का दर्जा बदलने की कोशिश कर रहा है पाकिस्तान, आजाद कश्मीर का नाम बदलकर किया JKAS

0
215

अफगानिस्तान और भारत के कब्जे वाले क्षेत्रों पर यथास्थिति बनाए रखने की नीति को बदलकर पाकिस्तान इन क्षेत्रों पर अपना दावा मजबूत कर रहा है। उसने पश्चिमी मोर्चे पर अफगानिस्तान द्वारा लंबी विवादित रेखा डूरंड लाइन पर तेजी से बाड़ लगाने का काम शुरू कर दिया है। वहीं, पूर्वी मोर्चे पर पाकिस्तान ने पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (POK) का नाम आजाद कश्मीर से बदलकर जम्मू और कश्मीर प्रशासनिक सेवा (JKAS) कर दिया है।

पीओके के एक कार्यकर्ता नासिर अजीज खान ने इस क्षेत्र और गिलगित बाल्टिस्तान की स्थिति को बदलने के खिलाफ आवाज उठाते हुए पाकिस्तान पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि इमरान खान के नेतृत्व वाली सरकार पंजाब प्रांत में इस क्षेत्र को अवैध रूप से मिलाने की कोशिश कर रही है।

यूनाइटेड कश्मीर पीपल्स नेशनल पार्टी के प्रवक्ता नासिर अजीज खान ने यह प्रतिक्रिया 11 दिसंबर को जारी किए गए एक आदेश पर दी। बताते चलें कि पाकिस्तान सरकार ने 11 दिसंबर को ‘आजाद कश्मीर’ सरकार की तरफ से जारी आदेश में ‘आजाद जम्मू और कश्मीर मैनेजमेंट ग्रुप’ का नाम तत्काल प्रभाव से बदलकर ‘जम्मू और कश्मीर ऐडमिनिस्ट्रेटिव सर्विसेज’ कर दिया था। यह आदेश POK के कथित प्रधानमंत्री फारुक हैदर खान के उस बयान के ठीक बाद जारी किया गया, जिसमें उन्होंने कहा कि वह संभवतः POK के आखिरी प्रधानमंत्री हो सकते हैं।

इस पर प्रतिक्रिया देते हुए नासिर अजीज ने कहा, कि पाकिस्तानी प्रशासन ने रजा फारुक को स्पष्ट संदेश दिया है कि वह POK के आखिरी प्रधानमंत्री हो सकते हैं। यह स्पष्ट रूप से बताता है कि पाकिस्तान POK को पंजाब प्रांत और कुछ हिस्सों को खैबर पख्तूनख्वा में अवैध रूप से विलय की कोशिश कर रहा है। गिलगित-बाल्टिस्तान के बारे में भी पाकिस्तान का ऐसा ही करने की मंशा है।

पाकिस्तान ने इन इलाकों पर अवैध कब्जा किया हुआ है। उन्होंने कहा कि संयुक्त राष्ट्र प्रस्ताव के मुताबिक, पाकिस्तान को इन इलाकों से हटना था। मगर, उसने जम्मू और कश्मीर पर संयुक्त राष्ट्र के प्रस्ताव का पालन नहीं किया और इलाके में उनका दमन जारी है। पाकिस्तान ने यहां सांप्रदायिकता के बीज बो दिए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here