कोरोना वायरस के कहर के बीच चीनी राष्‍ट्रपति से हाथ मिलाकर घिरे पाक राष्‍ट्रपति आरिफ अल्‍वी

0
211

कोरोना वायरस से बचने के लिए पूरी दुनिया ‘नमस्‍ते’ को तवज्‍जो दे रही है। ऐसे में कोरोना वायरस से जूझ रहे पाकिस्‍तान के राष्‍ट्रपति आरिफ अल्‍वी चीन यात्रा के दौरान राष्‍ट्रपति शी चिनफिंग के साथ हाथ मिलाकर सवालों के घेरे में आ गए हैं। बता दें कि विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन भी हाथ न मिलाने और साफ-सफाई का विशेष ध्‍यान देने की सलाह दे चुका है। इस बीच यह भी खबर आ रही है कि अल्‍वी ने अगले 5 द‍िनों के ल‍िए खुद को अलग(क्‍वारंटाइन) कर ल‍िया है।

बता दें कि चीन के वुहान से ही कोरोना वायरस की शुरुआत हुई थी। ऐसे में पाकिस्‍तान के राष्‍ट्रपति का चीन के अपने समकक्ष से हाथ मिलाना बिल्‍कुल भी जरूरी नहीं था। पाकिस्‍तान में अब तक 300 से ज्‍यादा लोग कोरोना वायरस की चपेट में आ चुके हैं। वहीं, दो लोगों की जान ये जानलेवा वायरस ले चुका है। पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान इस बीच ये भी कह चुके हैं कि उनके पास कोरोना वायरस से लड़ने के इंतजाम नहीं हैं।

चीन में कोरोना वायरस का तांडव होने के बाद अल्‍वी पहले ऐसे राष्‍ट्राध्‍यक्ष हैं, जिन्‍होंने चीन की आधिकारिक यात्रा की है। वैसे, अल्‍वी की भी यह पहली चीन यात्रा थी। चीन के साथ नजदीकी द‍िखाने के लिए वह इतना ज्‍यादा उत्‍साहित हो गए कि उन्‍होंने शी चिनफिंग से हाथ मिला लिया। हालांकि, चिनफिंग एकदम स्‍वास्‍थ्‍य हैं और गुरुवार को कोरोना वायरस से जुड़ा कोई भी मामला चीन में सामने नहीं आया है।

वैसे बता दें कि चीनी अधिकारियों ने बाद में पाकिस्‍तान राष्‍ट्रपति और विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी और पाकिस्‍तानी प्रतिनिधिमंडल में शामिल अन्‍य लोगों का कोरोना परीक्षण भी किया, जो नेगेटिव पाया गया है। गौरतलब है कि चीन ने कोरोना वायरस पर पूरी तरह से काबू पा लिया है। गुरुवार कोई भी मामला पूरे देश में कोरोना वायरस से जुड़ा सामने नहीं आया है। वहीं, चीन अब इटली समेत अन्‍य देशों को कोरोना वायरस की गिरफ्त से निकालने की कोशिश में जुट गया है। हाल ही में चीन के डॉक्‍टर्स की एक टीम इटली पहुंची है। चीन के बाद इटली में ही कोरोना वायरस का सबसे ज्‍यादा कहर देखने को मिला है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here