कांग्रेस से इस्तीफा देकर शिवसेना में शामिल हुई प्रियंका चतुर्वेदी, बोली- मेरे साथ ‘न्याय’ नहीं हुआ

0
67

नई दिल्लीः कांग्रेस से इस्तीफा देने वाली प्रियंका चतुर्वेदी ने शुक्रवार को ही शिवसेना का दामन थाम लिया। प्रियंका शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे की मौजूदगी में शिवसेना में शामिल हुईं। प्रियंका ने कहा कि मैं सोच-समझ कर शिवसेना में शामिल हुई हूं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस में मुझे न्याय नहीं मिला, मैंने 10 साल तक बिना किसी स्वार्थ के पार्टी के लिए काम किया। मथुरा में अपने साथ कथित तौर पर बदसलूकी करने वाले कांग्रेस कार्यकर्त्ताओं के खिलाफ हुई अनुशासनात्मक कार्रवाई को निरस्त किए जाने से नाराज होकर प्रियंका चतुर्वेदी ने इस्तीफा दिया है। उन्होंने गत 17 अप्रैल को ट्वीट कर कहा था कि बड़े ही दुख की बात है कि पार्टी खून-पसीना देकर काम करने वालों की बजाय मारपीट करने वाले गुंडों को अधिक वरीयता देती है। पार्टी के लिए मैंने अभद्र भाषा से लेकर हाथापाई तक झेली, लेकिन फिर भी जिन लोगों ने मुझे पार्टी के अंदर धमकी दी, उनके खिलाफ कोई भी ठोस कार्रवाई नहीं हुई। यह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण हैं।‘’

PunjabKesari

टिकट के लिए नहीं छोड़ी कांग्रेस
प्रियंका ने माना कि वह कांग्रेस के टिकट पर लोकसभा का चुनाव लड़ना चाहती थी लेकिन उन्होंने कहा कि मैंने टिकट के लिए नहीं बल्कि आत्मसम्मान के लिए कांग्रेस छोड़ी। उन्होंने कहा कि हां मुझे उत्तर प्रदेश के मथुरा से उन्हें लगाव है लेकिन इस सीट से उन्होंने टिकट की मांग नहीं की। उन्होंने कहा कि वह मंबई में पली पढ़ी हैं और वह जानती हैं कि मुंबई में रहने वाले लोगों के दिलों पर शिवसेना राज करती है। शिवसेना के लिए उनके मन में विशेष सम्मान रहा है। पार्टी के युवा नेतृत्व और उनकी सोच को देखते हुए वह शिव सेना में शामिल हो रही हैं।

PunjabKesariदरअसल, पिछले दिनों प्रियंका राफेल मामले पर संवाददाता सम्मेलन करने के लिए मथुरा में थीं जहां पार्टी के कुछ कार्यकर्ताओं ने उनके साथ कथित तौर पर बदसलूकी थी। उनकी शिकायत पर इन कार्यकर्त्ताओं को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया था। बाद में उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी की ओर से जारी बयान में कहा गया कि कार्यकर्त्ताओं द्वारा खेद प्रकट करने के बाद उनके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई को निरस्त किया जा रहा है। सूत्रों का कहना है कि यूपीसीसी के इस कदम से नाराज प्रियंका ने ट्वीट करने के साथ ही पार्टी के वरिष्ठ नेताओं को अपनी नाराजगी से अवगत कराया था।

PunjabKesari

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here