शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों का बिना इजाजत मार्च शुरू, अमित शाह से करनी है मुलाकात

0
236

गृहमंत्री अमित शाह से मिलने के शाहीन बाग के प्रदर्शनकारी ने मार्च शुरू कर दिया है जबकि दिल्ली पुलिस ने इसकी मंजूरी नहीं दी है। इतना ही नहीं प्रदर्शनकारियों ने गृहमंत्रालय से अमित शाह से मिलने के लिए समय भी नहीं मांगा है। आपको बता दें कि दो माह से धरने पर बैठी और दबंग दादियों के नाम से मशहूर हो चुकी बुजुर्ग सरबरी, नूरजहां और अन्य महिलाओं ने शनिवार कहा है कि वह रविवार को अमित शाह से मिलने जाएंगे।  

Shaheen Bagh protesters Live Updates

– दादियां ने पुलिस को मार्च की अनुमति के लिए पत्र दिया है। पुलिस का कहना है कि हमने मंजूरी के आगे पत्र भेज दिया है। इसके बाद ही मार्च की अनुमति मिलेगी। वहीं, पत्र देने के बाद दादियां वापस लौटीं। प्रदर्शनकारी मार्च की शक्ल में पीछे खड़े हैं।

– गृह मंत्री से मुलाकात को लेकर शाहीन बाग प्रदर्शनकारियों की मार्च के बीच बड़ी संख्या में सुरक्षाबलों की तैनाती भी की गई है। 
-शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों ने होम मिनिस्टर अमित शाह के घर जाने के लिए मार्च शुरू किया

– साउथ ईस्टी डीसीपी आपी मीणा ने कहा है कि शाहीन बाग प्रदर्शनकारियों ने हमें बताया है कि वे अमित शाह से मिलने के लिए मार्च निकालना चाहते है। उन्होंने बाताया कि प्रदर्शनकारियों को बताया गया है कि वे मार्च नहीं निकाल सकते हैं क्योंकि उनके पास केंद्रीय गृहमंत्री से मिलने का समय नहीं लिया है। हम उनसे बात कर रहे हैं और हमें उम्मीद है कि वे समझ जाएंगे।

– दिल्ली पुलिस ने कहा है कि हमने शाहीनबाग के प्रदर्शनकारियों से पूछा है कि प्रतिनिधिमंडल में कौन-कौन शामिल हैं जो आज होम मिनिस्टर अमित शाह से मिलना चाहते हैं ताकि हम बैठक से पहले योजना बना सकें लेकिन उन्होंने कहा कि वे सभी जाना चाहते हैं। हमने इससे इनकार किया है लेकिन हम देखेंगे कि हम क्या कर सकते हैं।

– प्रदर्शनकारियों के मुताबिक, कुछ दिन पहले गृहमंत्री ने एक न्यूज चैनल से कहा था कि तीन दिन के भीतर वह सीएए और एनआरसी के विरोध में प्रदर्शन कर रहे लोगों से मिलेंगे, इसलिए ही हम उनसे मिलने जाएंगे। गृहमंत्री के सामने अपना पक्ष रखा जाएगा। प्रदर्शनकारियों ने दिल्ली समेत पूरे देश के लोगों से अपील की है कि वह पैदल मार्च में शामिल हों।
 
– 10 लोगों की अनुमति 
गृहमंत्री से मिलने की खबर सुनकर स्थानीय जिलाधिकारी और एसडीएम ऑफिस से कुछ अधिकारी प्रदर्शनस्थल पर पहुंचे। उन्होंने प्रदर्शनकारियों में से केवल दस लोगों को गृहमंत्री से मिलने जाने की बात कही, लेकिन प्रदर्शनकारियों की इस पर सहमति नहीं बनी। प्रदर्शनकारियों का कहना था कि उनका कोई नेतृत्व नहीं है। वह सभी केंद्र सरकार के इस काले कानून के विरोध में हैं, इसलिए वह सभी जाएंगी। आगे दादियां रहेगी।

– शाहीन बाग के लोग क्या बोले  सोनू वारसी 
सभी लोगों के अपने-अपने विचार हैं। कोई एक व्यक्ति दूसरे की भावनाओं को कैसे व्यक्त कर सकता है। गृहमंत्री ने मीडिया के माध्यम से हमें न्योता भेजा है। हम उसी के माध्यम से उन्हें बता रहें है कि हम उनसे मिलने जाएंगे।

शकीला बेगम 
हम पहले दिन से ही गृहमंत्री से शाहीनबाग आकर हमारी बात सुनने की मांग कर रहे हैं। वह शाहीनबाग के आसपास चुनावी सभा तो करते हैं, लेकिन हमसे मिलने नहीं आए। अब उन्होंने खुला न्योता भेजा है तो हम सब जाएंगे।

शहीदों के लिए रक्तदान 
धरनास्थल पर शनिवार को रक्तदान शिविर लगाया गया, जिसमें बड़ी संख्या में लोगों ने रक्तदान किया। प्रदर्शनकारियों का कहना था कि पुलवामा हमले को याद करते हुए हमने देश के बॉर्डर पर हमारे लिए लड़ रहे सैनिकों के लिए यह रक्तदान शिविर लगाया है। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here