सुबह तेजी के साथ खुला, शाम को गिरकर बंद हुआ शेयर बाजार

0
249

शुक्रवार को शेयर मार्केट बढ़त के साथ खुला, लेकिन गिरावट के साथ बंद हुआ। सुबह 9.36 बजे सेंसेक्स 200 अंकों की तेजी के साथ 41,659 पर रहा। वहीं निफ्टी में 60 अंकों की बढ़त रही और यहां 12,235 पर ट्रेडिंग हुई। वहीं दिन के आखिरी में सेंसेक्स 202 अंकों की गिरावट के साथ 41257 पर बंद हुआ, वहीं निफ्टी में 61 अंकों की गिरावट रही और 12,113 पर बंद हुआ। इससे पहले गुरुवार को बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 106.11 अंक गिरकर 41,459.79 पर बंद हुआ था। एनएसई का निफ्टी 26.55 अंक गंवाकर 12,174.65 पर बंद हुआ था।

चीन में कोरोना वायरस का संकट कम होता नहीं दिख रहा है। वायरस के नए मामले सामने आने और एक ही दिन में 200 से ज्यादा लोगों की मौत ने लोगों को हिलाकर रख दिया है। इसका असर दुनियाभर के बाजारों पर पड़ रहा है। इसके अलावा घरेलू मोर्चे पर कुछ निराशाजनक वृहद आर्थिक आंकड़ों ने भी भारत में निवेशकों की धारणा को कमजोर किया।

गुरुवार को सेंसेक्स में सबसे ज्यादा 3.68 फीसद की गिरावट इंडसइंड बैंक के शेयरों में आई। एनटीपीसी, टाटा स्टील, आइसीआइसीआइ बैंक, कोटक बैंक और एचडीएफसी में भी गिरावट आई। इस दौरान टाइटन, एसबीआइ, इन्फोसिस, सन फार्मा और टेक महिंद्रा के शेयर बढ़त में रहे। सेंसेक्स की 16 कंपनियों के शेयर गिरावट में रहे, जबकि 14 में बढ़त दर्ज की गई।

जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज के रिसर्च हेड विनोद नायर ने कहा कि खुदरा महंगाई दर रिजर्व बैंक के लक्ष्य से बहुत ऊपर पहुंच गई है। इससे ब्याज दरों पर आधारित शेयरों में गिरावट आई। बीएसई में स्मालकैप और मिडकैप शेयरों का प्रदर्शन शानदार रहा।

कोरोना की चिंता में प्रमुख एशियाई बाजारों में गिरावट आई। यूरोपीय बाजार भी शुरुआती कारोबार में गिरावट में रहे। इस बीच, इंटरनेशनल एनर्जी एजेंसी ने कहा है कि कोरोना के कारण चीन की अर्थव्यवस्था पर पड़े दुष्प्रभाव ने तेल की मांग गिरा दी है। दशक में पहली बार तिमाही आधार पर तेल की मांग में कमी आती दिख रही है। इससे पूरी दुनिया पर असर पड़ रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here