क्यों नवंबर में मनाया जाता है ‘नो शेव नवंबर’?

0
75

जैसे ही नवंबर का महीना आता है, इसके साथ ही पूरा सोशल मीडिया ‘नो शेव नवंबर’ की पोस्ट और हैशटैग्ज़ से भर जाता है और ये सिलसिला पूरे महीने चलता है। अगर आप भी यह नहीं जानते कि ऐसा क्यों होता है तो ये आर्टिकल आपके लिए ही है।

एक दशक पहले, यानी साल 2009 में ‘नो शेव नवंबर’ फेसबुक पर एक सोशल मीडिया कैम्पेन के तौर पर शुरू हुआ था। इस अभियान को कैंसर पर रिसर्च और दान के लिए पैसे जुटाने और जागरूकता बढ़ाने के लिए शुरू किया गया था। 

यह अभियान शिकागो के रहने वाले हिल परिवार ने शुरू किया था। इस परिवार ने अपने पिता मैथ्यू हिल के सम्मान में इसे शुरू किया था जिनकी साल 2007 में कोलोन कैंसर से मृत्यु हो गई थी।

नवंबर को ही ‘नो शेव नवंबर’ के रूप में क्यों मनाया जाता है? 

‘नो शेव नवंबर’ सिर्फ एक ट्रेंड हो रहा हैशटेग या सोशल मीडिया ट्रेंड नहीं है। ये असल में एक महीने चलने वाला सोशल मीडिया कैम्पेन है जिसे कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी के प्रति जागरुकता बढ़ाने के लिए किया जाता है।

महीने भर चलने वाले इस कैम्पेन में, पुरुष शेविंग न करा के अपनी ग्रूमिंग से बचने वाले पैसे को एक चैरिटी को दान कर देते हैं जो कैंसर रोगियों के इलाज और अन्य ज़रूरतों को पूरा करने में मदद करता है। यह सोशल अभियान इस बीमारी से जुड़े कलंक को दूर करने का भी प्रयास करता है। 

ये महीना अपने बालों से प्यार करने का और उन्हें बढ़ने देने का है। यह दूसरों के जीवन को बचाने के लिए जागरूक निर्णय लेने का महीना है, कैंसर की रोकथाम रणनीतियों में योगदान और बीमारी के बारे में लोगों को शिक्षित करने का है।

‘नो शेव नवंबर’ में आप भी ले सकते हैं भाग 

इस कैम्पेन का हिस्सा कोई भी बन सकता है, बस आपको नवंबर के महीने में अपनी मूंछे और दाढ़ी को वैक्स या शेव नहीं कराना है। आपको सिर्फ अपने रेज़र से दूरी बनानी है और ग्रूमिंग में होने वाले खर्चों को बचाकर किसी भी चैरिटी या फिर ऑफिशयल ‘नो शेव नवंबर’ चैरिटी में दान करना है।

अगर आप बिना शेव किए नहीं रह सकते तो आप उन लोगों को सपोर्ट कर सकते हैं जो इस कैम्पेन का हिस्सा हैं। जिसके लिए आप या तो सोशल मीडिया पर उनका अत्साह बढ़ा सकते हैं या फिर चैरिटी कर सकते हैं। यह उन एनजीओ के लिए चैरिटी है जो कैंसर की जागरूकता बढ़ाने के लिए काम करते हैं। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here