Bharat Bandh: 32 स्थानों पर ट्रेन सेवाएं प्रभावित, 4 शताब्दी ट्रेनें रद्द: भारतीय रेलवे

0
259

नए कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहे किसानों के आंदोलन को आज 4 महीना पूरा हो गया है लेकिन सरकार की ओर से किसानों की मांग मानी नहीं गई है और इसी वजह से किसान संगठनों ने आज भारत बंद का आह्वान किया है। बंद के कारण देश के कई हिस्सों में आज रेल और सड़क परिवहन प्रभावित है। संयुक्त किसान मोर्चे के मुताबिक भारत बंद आज सुबह छह बजे से शुरू हो गया जो कि शाम छह बजे तक जारी रहेगा।

देश के कई राज्यों में आज प्रदर्शन हो रहे हैं, कई जगहों पर प्रदर्शनकारी रेलवे ट्रैक पर बैठ गए हैं। इंडियन रेलवे ने जानकारी देते हुए कहा है कि प्रदर्शनकारी किसान पंजाब और हरियाणा में 31 स्थानों पर बैठे हैं, जो दिल्ली, अंबाला और फिरोजपुर डिवीजन में रेल आवाजाही को प्रभावित कर रहे हैं। 32 स्थानों पर ट्रेन सेवाएं प्रभावित हैं और चार शताब्दी ट्रेनें भारत बंद की वजह से रद्द करनी पड़ी हैं।

सत्याग्रह से ही अत्याचार, अन्याय व अहंकार का अंत होता है

भारत बंद की वजह से कुछ देर के लिए आज टिकरी बॉर्डर, बहादुरगढ़ सिटी और ब्रिगेडियर होशियार सिंह मेट्रो स्टेशन भी बंद किए गए थे लेकिन बाद में उन्हें खोल दिया गया। तो वहीं दूसरी ओर कई राजनीतिक पार्टियों ने इस बंद का समर्थन किया है। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने इस बारे में एक ट्वीट किया है, जिसमें उन्होंने मोदी सरकार पर तंज कसते हुए कहा है लिखा है कि भारत का इतिहास गवाह है कि सत्याग्रह से ही अत्याचार, अन्याय व अहंकार का अंत होता है। आंदोलन देशहित में हो और शांतिपूर्ण हो!। आज भारत बंद है।

मालूम हो कि किसानों का आंदोलन कृषि कानूनों के खिलाफ लगातार जारी है एक दिन पहले ही किसानों के नेता राकेश टिकैत ने एक महापंचायत को संबोधित करते हुए दोहराया कि जब तक सरकार तीनों कानून वापस नहीं लेती है, तब तक किसानों की घर वापसी नहीं होगी। हमें संशोधन नहीं चाहिए, हम बस चाहते हैं कि सरकार नए कृषि कानून को खत्म कर दे। सरकार ने बिना सलाह-मशवरा के कानून बनाया है और अब हमसे पूछ रहे हैं कि कानून में कमी क्या है? , ये कानून गरीब किसानों के मुंह से निवाला छीन लेगा, सरकार को इसे हर हालत में रद्द करना ही होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here