तमिलनाडु में बड़ा सियासी उलटफेर, जयललिता की करीबी वीके शशिकला ने राजनीति छोड़ने का किया ऐलान

0
230

आगामी तमिलनाडु विधानसभा चुनाव से ठीक पहले शशिकला ने बड़ा एलान करते हुए राजनीति से संन्यास लेने की घोषणा कर दी है। शशिकला ने आगामी विधानसभा चुनावों में एआईएडीएमके कार्यकर्ताओं को एकता बनाए रखने के लिए कहा है। साथ ही उन्होंने डीएमके को हराने की इच्छा जाहिर की। उन्होंने कहा कि अम्मा मेरी बहन की जैसी थी, मैं उनके गुजरने के बाद से ही सदमे में चली गई थी लेकिन अब उबरने की कोशिश कर रही हूं। मुझे कभी सत्ता से लोभ नहीं रहा। शशिकला ने आगे कहा कि मेरी बहन जयललिता के सपना को पूरा करने के लिए एआईडीएमके को अगले 100 वर्षों तक शासन करना चाहिए। उन्होंने पार्टी के सच्चे समर्थकों का शुक्रिया भीअदा किया।

बता दें कि अन्नाद्रमुक से निष्कासित नेता वी के शशिकला आय से अधिक संपत्ति मामले में चार साल की जेल की सजा काटने के बाद नौ फरवरी को तमिलनाडु लौटी थीं। जहां उनके समर्थकों ने उनका भव्य स्वागत किया था। हालांकि अन्नाद्रमुक शशिकला से किनारा करती दिखी थी। अन्नाद्रमुक ने कहा था कि शशिकला का पार्टी से कोई लेना देना नहीं है।
शशिकला का जन्म वर्ष 1957 में चेन्नई से 330 किलोमीटर दूर तंजौर जिले के थिरुथुरईपूंडी में हुआ था। इनकी माता का नाम कृष्णावेणी और पिता नाम विवेकानंदन है। शशिकला लगभग 30 साल तक तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जयललिता की खास सहयोगी रही। अपने करियर के शुरुआत में मुख्यमंत्री जयललिता के कार्यक्रमों में फोटोग्राफी का काम करती थी और यहीं से जयललिता की एकदम करीब आ गई।

जयललिता के निधन के बाद शशिकला वर्ष 2016 में एआईडीएमके की महासचिव निर्वाचित हुई। शशिकला तमिलनाडु में चिनम्मा (मौसी ) के नाम से जानी जाती है। सक्रिय राजनीति में शशिकला का प्रवेश 31 दिसंबर 2016 से प्रारम्भ हुआ।  
अन्नाद्रमुक ने शशिकला को पार्टी में शामिल नहीं करने के दिए थे संकेत

शशिकला के राजनीति से संन्यास लेने पर तमिलनाडु की सियासत में आए बड़े उलटफेर से पहले भाजपा ने बुधवार को कहा कि दिवंगत मुख्यमंत्री जे जयललिता की करीबी रहीं वीके शशिकला को छह अप्रैल को होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए सत्तारूढ़ दल के अगुवाई वाले गठबंधन में शामिल करना है या नहीं, इस पर अन्नाद्रमुक को निर्णय लेना है।

इस पर अन्नाद्रमुक ने तत्काल प्रतिक्रिया देते हुए कहा था कि वह न तो शशिकला को और न ही उनके रिश्तेदार टीटीवी दिनाकरण नीत अम्मा मक्कल मुनेत्र कषगम को पार्टी में और न ही चुनाव के लिए किए गए गठबंधन में शामिल करेगी।

तमिलनाडु भाजपा प्रभारी और राष्ट्रीय महासचिव सीटी रवि से पूछा गया था कि क्या उनकी पार्टी चाहती है कि शशिकला अन्नाद्रमुक नीत गठबंधन में शामिल हो जाएं और इस संबंध में गृह मंत्री अमित शाह के कथित तौर पर मुख्यमंत्री के पलानीस्वामी से बात करने के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि केवल आप कयास लगा रहे हैं।

हम पर कोई दबाव नहीं बना सकता: जयकुमार
उन्होंने संवाददताओं से कहा कि भाजपा अन्नाद्रमुक की अगुवाई वाले गठबंधन का हिस्सा है और शशिकला तथा दिनाकरण को इसमें शामिल करना है या नहीं इस पर तमिलनाडु की सत्तारूढ़ पार्टी को निर्णय करना है। सीटों के बटवारे को लेकर अन्नाद्रमुक के साथ किसी प्रकार के मतभेद के बारे में पूछे जाने पर रवि ने कहा कि कोई मतभेद नहीं है और बातचीत चल रही है।

रवि ने कहा कि हम सभी 234 सीटों पर पार्टी को मजबूत कर रहे हैं। यह पूछे जाने पर कि क्या भाजपा शशिकला को गठबंधन में वापस लाने की सिफारिश कर रही है या पार्टी पर इसके लिए कोई दबाव है, अन्नाद्रमुक के वरिष्ठ नेता डी जयकुमार ने कहा कि हम पर कोई दबाव नहीं बना सकता।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here