दिल्ली NCR की हवा में फिर घुला ‘जहर’, घर की खिड़कियां बंद रखने की एडवायजरी जारी

0
1601

दिल्ली NCR के बाशिंदों को वायु प्रदूषण से राहत मिलती दिखाई नहीं दे रही है। एक बार फिर राष्ट्रीय राजधानी में प्रदूषण का स्तर ‘Severe’ कैटेगरी में पहुंच गया है। दिन पर दिन बिगड़ती हवा के बीच लोग सांस लेने को मजबूर हैं, ऐसे में ना चाहते हुए भी सांसों में ‘जहर’ घुल रहा है। दिल्ली में प्रदूषण का स्तर किस कदर बढ़ा हुआ है इसका इसी बात से अंदाजा लगाया जा सकता है कि लोगों को घर से ना निकलने की सलाह दी जा रही है। गुरुवार को दिल्ली का एयर क्वालिटी पॉल्यूशन (AQI) सुबह नौ बजे 407 रहा।

SAFAR ने जारी की एडवायजरी

केंद्र सरकार द्वारा संचालित सिस्टम ऑफ एयर क्वालिटी एंड वेदर फॉरकास्टिंग (SAFAR) द्वारा हवा की खराब स्थिति के मद्देनजर एडवायजरी जारी की गई है। इस एडवायजरी में लोगों को घर के बाहर फिजिकल एक्टीविटी ना करने की सलाह दी गई है। इसके साथ ही मॉर्निंग वॉक ना करने और घर में एयर प्यूरीफायर होने की सूरत में कमरों की खिड़कियां बंद रखने की सलाह भी दी गई है। हालांकि साथ ही कहा गया है कि वेक्यूम ना बनाएं और बार-बार गीला पोछा लगाने की सलाह दी गई है।

एडवायजरी में कहा गया है कि अगर किसी को अचानक कफ, सीने में असहजता, सांस लेने में तकलीफ जैसे लक्षण नजर आते हैं तो तत्काल शारीरिक गतिविधियां रोक दें और डॉक्टर को दिखाएं।

यह है AQI का स्तर

0 से 50 के बीच के AQI को ‘सुरक्षित’ माना जाता है। 51 से 100 के बीच के AQI को ‘संतृष्टिपूर्ण’ माना जाता है। 101 से 200 के बीच के AQI को ‘म़ॉडरेट’ माना जाता है। वहीं 201 से 300 का AQI ‘खराब’ माना जाता है। 301 से 400 के बीच का AQI ‘बहुत खराब’ कहलाता है और 401 से 500 के बीच का एयर पॉल्यूशन लेवल ‘खतरनाक’ स्तर का माना जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here