दिल्‍ली पुलिस ने कहा कुछ हिस्सों में ही धारा -144 लागू, अफवाहों से बचें

0
575

नागरिकता संशोधन कानून को लेकर देश की राजधानी दिल्ली में भी हंगामा बरपा हुआ है। दिल्‍ली पुलिस ने आज शाम एक प्रेस वार्ता में जनता को धन्‍यवाद देते हुए कहा है कि वे अफवाहों से बचकर रहें। दिल्‍ली के बवाना इलाके में तनाव था लेकिन इससे निपटने के लिए सुरक्षा के पूरे इंतजाम थे। मौके को संभालने के लिए 52 कंपनियों को तैनात किया गया था। इस समय सोशल मीडिया पर पुलिस निगरानी कर रही है।

दिल्ली पुलिस पीआरओ एमएस रंधावा ने कहा कि, उत्तर-पूर्वी जिले, लाल किला और नई दिल्ली के कुछ हिस्सों में धारा -144 लागू है। ऐसी अफवाहें हैं कि यह पूरी दिल्ली में लगाया गया है, यह गलत है। शहर के कुछ ही छोटे हिस्सों में धारा -144 लागू है।

दिल्ली पुलिस पीआरओ, एमएस रंधावा ने कहा, पुलिस सोशल मीडिया पर कड़ी निगरानी रख रही है। अगर आपको कोई अफवाह आती है तो कृपया हमारे साथ साझा करें। हम उन लोगों की पहचान कर रहे हैं जो अफवाह फैलाने की कोशिश कर रहे हैं और उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई करेंगे।

इसके बाद आज दिल्ली के 14 मेट्रो स्टेशनों को बंद करने की जानकारी सामने आ रही है। नागरिकता कानून को लेकर हो रहे हंगामें के बाद यह कदम उठाया गया है। इसके साथ ही लाल किले के आसपास के सारे इलाके में धारा 144 को लागू कर दिया गया है। लाल किले पर विपक्षी दलों द्वारा प्रदर्शन किया जा रहा है। यहां से पुलिस ने बड़ी संख्या में लोगों को गिरफ्तार किया है।

नागरिकता कानून के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे लोगों ने जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी के गेट के बाहर नमाज अदा की। इस दौरान अन्य धर्मों के लोगों ने उनके आसपास मानव श्रृंखला बनाकर रखी। वहीं दूसरी ओर दिल्ली पुलिस का नरम रवैया भी सामने आया जब पुलिस ने हिरासत में लिए गए लोगों को नाश्ता मुहैया कराया

विरोध प्रदर्शन के चलते दिल्ली के कई इलाकों में मोबाइल सेवाओं को बंद किया गया। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने मोबाइल कंपनियों को वाइस, एसएमएस, इंटरनेट सेवाएं सुबह 9 बजे से 1 बजे तक बंद रखने का कहा था। जिन इलाकों में मोबाइल सेवाएं बंद की गईं उसमें नॉर्थ एंड सेंट्रल डिस्ट्रिक्ट्स, मंडी हाउस, सीलमपुर, जाफराबाद, मुस्तफाबाद, जामिया नगर, शाहीन बाग और बवाना शामिल हैं। यह कवायद लॉ एंड ऑर्डर को बनाए रखने के लिए की गई।

दिल्ली में लाल किले के नजदीक हो रहे विरोध प्रदर्शन के दौरान योगेंद्र यादव को हिरासत में लिया गया है। इसके साथ ही जवाहरलाल नेहरु यूनिवर्सिटी के पूर्व छात्र उमर खालिद को भी गिरफ्तार किया गया है।

इसके पूर्व शुरुआत में दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन ने जामिया मिलिया इस्लामिया, जसोला विहार, शाहीन बाग और मुनिरका मेट्रो स्टेशनों के एंट्री और एग्जिट गेट्स बंद रखने का निर्णय लिया था।

इन सभी स्टेशनों पर कोई भी ट्रेन नहीं रुकेगी। बता दें कि CAA को लेकर जारी विरोध में राज्य में कई जगह हिंसा हो चुकी है। जामिया मिलिया के छात्रों द्वारा हिंसक विरोध प्रदर्शन किया जा चुका है, जिसमें सरकारी संपत्ति को बड़ा नुकसान हुआ है। ऐसे में DMRC ने एहतियान यह कदम उठाया है।

जामिया हिंसा पर बढ़ रहा विवाद

नागरिकता संशोधन एक्ट बनाने के खिलाफ दिल्ली में जामिया मिलिया के छात्रों द्वारा विरोध प्रदर्शन किया गया था। कुछ वक्त बाद प्रदर्शन हिंसक हो गया। इसके बाद छात्रों द्वारा कई बसों और गाड़ियों में तोड़फोड़ करते हुए उनमें आग लगा दी गई थी। प्रदर्शन को काबू में करने की कोशिश कर रही पुलिस पर भी पथराव किए गए थे। इसके बाद पुलिस ने यूनिवर्सिटी परिसर में घुसकर छात्रों की पिटाई की थी और उन्हें गिरफ्तार किया था।

इस मामले ने देश में तूल पकड़ लिया। पुलिस की सख्ती के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिकाएं दायर की गई थी। जिस पर कोर्ट ने ने हाईकोर्ट में पिटीशन लगाने का कहा था। जामिया हिंसा के खिलाफ लगी याचिकाओं पर आज दिल्ली हाईकोर्ट में सुनवाई भी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here