कोरोना मामलो में आयी तेज़ी के कारण मुर्दो को दफनाने की जगह नहीं, खोदी जा रही पुरानी कब्र

0
175

दक्षिण अमेरिकी देश ब्राजील में कोरोना वायरस के नए वेरियंट ने लोगों को संकट में डाल दिया है. यहां के सबसे बड़े शहर साओ पाउलो में इतने मरीजों की मौत हो रही है कि उन्हें दफनाने तक के लिए जगह नहीं बची है. अब लोगों को दफनाने की जगह बनाने के लिए कब्रिस्तान में पुरानी कब्र खोदी जा रही हैं, जिनमें से पुराने कंकाल निकाले जा रहे हैं. यहां बीते कुछ समय से रिकॉर्ड स्तर पर नए मामले सामने आ रहे हैं और मौत हो रही हैं.

इस शहर के उत्तरी हिस्से में स्थित विला नोवा कैकोइरिन्हा कब्रिस्तान (Vila Nova Cachoeirinha Cemetery) में वर्षों पहले दफनाए गए लोगों की कब्र खोदकर उनके अवशेष निकाले जा रहे हैं. अंतिम संस्कार से जुड़ी सर्विस का काम देखने वाले नगरपालिका सचिव ने एक बयान में कहा है कि मृतकों के अवशेष निकालकर उन्हें बड़े कंटेनर में डाला जा रहा है. संक्रमण के संकट के कारण ब्राजील की स्वस्थ प्रणाली पूरी तरह धवस्थ हो गई है. यहां अस्पताल और आईसीयू तक में मरीजों को जगह नहीं मिल रही.

ब्राजील के स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि गुरुवार को ही कोविड-19 के 3,769 नए मामले सामने आए हैं. अन्य देश भी डर के कारण ब्राजील से लगने वाली अपनी सीमा बंद कर रहे हैं. एक दिन पहले ही ब्राजील के बायोमेडिकल इंस्टीट्यूट ने कहा है कि उसने एक नए वेरियंट का भी पता लगाया है. जो उस वेरियंट के जैसा ही है, जो दक्षिण अफ्रीका में मिला था. ये वेरियंट तेजी से फैलने वाला है. हाल ही में ब्राजील की सरकार ने मंत्रीमंडल में भी फेरबदल किया है. ताकि इस स्थिति से निपटा जा सके.

चिली के नेशनल मेडिकल एसोसिएशन के सचिव ने कहा, ‘जो भी ब्राजील में हो रहा है कि वह वैश्विक खतरा है. यहां कुछ वेरियंट पहले से ही हैं, इसलिए सीमा बंद करने से हमें अधिक मदद नहीं मिलेगी. लेकिन नए वेरियंट्स ऐसे ही जारी रह सकते हैं.’ वो देश जिनकी सीमा ब्राजील से लगती है, वह सभी इस समय चिंता में हैं. ये देश अमेरिका के बाद दुनिया का दूसरा सबसे अधिक प्रभावित देश है. यहां बीते एक हफ्ते से प्रतिदिन औसतन 3100 लोगों की मौत हो रही है और 74 हजार नए मामले मिल रहे हैं. ये आंकड़े फरवरी के बाद से तेजी से बढ़ रहे हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here