पीसीओएस के कारण होते है चेहरे पर एक्ने, जानें कारण और बचाव के तरीके

0
153

पीसीओएस यानी पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम में महिलाओं को पीरियड में परेशानी होती है, लेकिन क्या आप जानते हैं कि पीसीओएस स्किन और बालों पर भी काफी असर डालता है।

पीसीओएस में हार्मोनल इंबैलेंस हो जाते है जिसकी वजह से शरीर में कई तरह के बदलाव आते है, जैसे स्किन का ड्राई होना, खुजली, जलन सूजन और हेयर फॉल हो जाता है। चलिए जानते हैं पीसीओएस का हमारी स्किन पर क्या असर पड़ता है।

क्या है पीसीओएस

पीसीओएस एक हेल्थ प्रॉब्लम है जो कि हर दस में एक महिला होती है। इस बीमारी में शरीर के हार्मोन बैलेंस बिगड़ जाते है जिसकी वजह से पीरियल इरेगुलर हो जाती है। वहीं इस बीमारी में मेल हार्मोस काफी बढ़ जाते है। इसके कारण महिलाओं में इनफर्टिलिटी भी हो सकती है।

पीसीओएस का स्किन पर असर

पीसीओएस में स्किन ड्राई होना आम बात है। ऐसे में त्वचा की देखभाल के लिए एक अच्छा मॉइश्चराइजर होना बहुत जरुरी है। मॉइश्चराइजर लगाने से पहले क्लींजर से अपने चेहरे को साफ करे लें इसके बाद चेहरे पर मॉइश्चराइजर लगाएं। ताकि स्किन क ड्राईनेस कम हो जाए। नहाने के बाद स्किन पर बॉडी लोशन जरुर लगाएं। जिससे आपकी स्किन नॉरमल और मुलायम हो जाएगी। त्वचा की देखभाल के लिए आप एसेंशियल ऑयल का इस्तेमाल कर सकते हैं।

एक्ने पर ध्यान दें

पीसीओएस में चेहरे पर एक्ने हो जाते हैं। एक्ने से निजात पाने के लिए त्वचा को एक्सफोलिएट करें, इसके अलावा स्किन पर मॉइश्चराइजर का इस्तेमाल करें। इससे चेहरे के मुंहासे कम हो जाएंगे। पीसीओएस का कोई इलाज नहीं है। अच्छी लाइफस्टाइल और हेल्दी डाइट से इसे ठीक किया जा सकता है। स्ट्रेस को मैनेज करने और हरी सब्जियों के सेवन से हर्मोन बैलेंस रहते हैं।

पीसीओएस में इन बातों का रखें ध्यान

पीसीओएस में वजन करने की कोशिश करनी चाहिए। वजन कम से होने से शरीर में एंड्रोजन घटता है। पीसीओएस के दौरान रिफाइंड कार्बोहाइड्रेट, शुगर, ऑयली फूल को नहीं खाना चाहिए। रोज एक्सरसाइज करना चाहिए। अपनी डाइट में हरी सब्जियां को शामिल करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here