तो क्‍या देश से बाहर नहीं जा सकेगे इमरान खान, सत्‍ता से हटते ही शुरू हुआ मुश्किल दौर

0
287

सत्‍ता के जाते ही इमरान खान एंड पार्टी का मुश्किलों का दौर भी शुरू हो गया है। सोमवार को एक अहम मामले में इस्‍लामाबाद हाईकोर्ट में सुनवाई होनी है। ये मामला पूर्व पीएम इमरान खान समेत उनके कैबिनेट के दूसरे सहयोगियों के देश से बाहर जाने पर रोक लगाने और इनका नाम एग्जिट कंट्रोल लिस्‍ट में शामिल करने से जुड़ा है। इसके अलावा हाईकोर्ट में कथित धमकी भरे पत्र की जांच का आदेश देने वाली एक अर्जी पर सुनवाई होनी है।

एएनआई ने एएआरवाई की रिपोर्ट के हवाले से बताया है कि इस याचिका में इस्‍लामाबद हाईकोर्ट से इमरान खान, फवाद चौधरी और शाह महमूद कुरैशी, पूर्व डिप्टी स्पीकर कासिम सूरी और असद मजीद के नाम ईसीएल पर रखने का अनुरोध किया गया है। द न्‍यूज इंटरनेशनल के मुताबिक इस याचिका को मौलवी इकबाल हैदर ने दायर किया है। मौलाना ने अपनी याचिका में देश के पूर्व पीएम और मंत्रियों के खिलाफ कथित धमकी भरे पत्र के संबंध में जांच कराने का आदेश जारी करने का भी अनुरोध किया। इसमें कहा गया है कि इमरान खान ने अमेरिका का हवाला देकर देश की छवि को गहरा नुकसान पहुंचाया है। इसका खामियाजा अमेरिका से संबंधों पर भी पड़ा है। 

यदि हाईकोर्ट का फैसला इस मामले में इमरान खान के खिलाफ आता है तो ये उनके लिए एक और झटका होगा। एग्जिट कंट्रोल लिस्‍ट में नाम शामिल होने के बाद कोई भी नेता देश नहीं छोड़ सकेगा। आपको बता दें कि पिछले दिनों पाकिस्‍तान की मीडिया में ये बात सामने आई थी कि अविश्‍वास प्रस्‍ताव में हार के बाद इमरान खान और उनके मंत्री देश छोड़कर जा सकते हैं। जानकारों का कहना था कि इसकी वजह ये है कि जो उन्‍होंने दूसरी राजनीतिक पार्टियों के नेताओं के साथ किया है यदि वो भी यही करेंगे तो उनके लिए राह मुश्किल हो जाएगी।

वहीं डान अखबार की खबर में बताया गया है कि फेडरल इंवेस्टिगेशन एजेंसी को हाई अलर्ट पर रखा गया है। एक आदेश में कहा गया है कि उनकी इजाजत के बिना या नो आब्‍जेक्‍शन सर्टिफिकेट के बिना कोई भी सरकारी अधिकारी देश से बाहर नहीं जाएगा। खबर के मुताबिक नेशनल असेंबली में इमरान खान की हार के बाद असेंबली के स्‍पीकर असद कैसर के इस्‍तीफे की घोषणा के साथ ही ये सख्‍ती शुरू कर दी गई है। देश के सभी अंतरराष्‍ट्रीय हवाई अड्डों को भी हाईअलर्ट पर रखा गया है।  

गौरतलब है कि शनिवार को लंबे समय से चले सियासी ड्रामे का अंत इमरान खान की सरकार गिरने के बाद हुआ है। शनिवार देर रात अविश्‍वास प्रस्‍ताव पर हुई वोटिंग में इमरान खान की हार हुई है। अब देश में नया पीएम चुना जाना है जिसके लिए शाहबाज शरीफ का नाम सबसे आगे है। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here