Israel: फरार कैदियों का समर्थन कर रहे फलस्तीनी और इजरायली सैनिकों के बीच झड़प, दर्जनों प्रदर्शनकारी घायल

0
243

इजरायल में एक बार फिर फलस्तीनियों और इजरायली सुरक्षाबलों के बीच टकराव देखने को मिल रहा है. कब्जे वाले वेस्ट बैंक में इजरायल सैनिकों के साथ हुए टकराव के चलते दर्जनों फलस्तीनी प्रदर्शनकारी घायल हो गए. ये प्रदर्शनकारी इस हफ्ते की शुरुआत में इजरायल की उच्च सुरक्षा वाली जेल से भागने में सफल रहे छह फलस्तीनी व्यक्तियों के समर्थन में प्रदर्शन कर रहे थे. इजरायल ने इन फरार कैदियों के रिश्तेदारों को गिरफ्तार कर लिया है. साथ ही गिलबोआ जेल से भागे कैदियों की तलाश शुरू कर दी है.

फलस्तीनी रेड क्रिसेंट ने कहा कि इजरायली सेना ने वेस्ट बैंक के विभिन्न शहरों में बुधवार शाम को रैलियों में भाग लेने वाली भीड़ पर आंसू गैस, रबर वाली गोलियां और गोला बारूद दागा, इसमें कम से कम 100 लोग घायल हो गए. फलस्तीनी कैदी सोसायटी के अनुसार, छह फरार कैदियों और फलस्तीनी बंदियों के समर्थन में रामल्लाह, नब्लस, बेथलहम और हेब्रोन के साथ-साथ आसपास के कस्बों और गांवों में सैकड़ों प्रदर्शन किए गए. अल जजीरा की रिपोर्ट में कहा गया है कि फरार कैदी या तो उम्रकैद की सजा काट रहे हैं या फिर उन्हें बिना किसी अपराध के कैद किया गया है.

पूर्वी यरुशलम में भी हुआ प्रदर्शन

रैली के दौरान, फलस्तीनी प्रदर्शनकारियों को ‘आजादी’ के नारे लगाए गए और फलस्तीनी झंडे लहराए गए. फलस्तीनी रेड क्रिसेंट के मुताबिक, पूर्वी यरुशलम में भी प्रदर्शन के दौरान तीन फलस्तीनी घायल हुए हैं. दमिश्क गेट के पास प्रदर्शन कर रहे लोगों पर इजरायली सैनिकों ने रबर बुलेट से हमला किया. ये विरोध तब हुआ है जब इजरायल ने कब्जे वाले वेस्ट बैंक में सैनिकों की तादाद को बढ़ाया है. इजरायली सेना ने एक बयान में कहा कि कैदियों को खोजने की कोशिश करने के लिए वेस्ट बैंक के सामान्य बंद का विस्तार करने का निर्णय लिया गया है.

कैदियों में चार आतंकवादी भी शामिल

बता दें कि इजरायल की गिलबोआ जेल के एक ही सेल में बंद छह खूंखार कैदी सोमवार को अचानक यहां से भाग गए. जिसके बाद सुरक्षाबलों ने तलाशी अभियान शुरू कर दिया और किसी भी हमले से बचने के लिए हाई अलर्ट पर हैं. पुलिस और सैन्य अधिकारियों ने बताया कि रोश हशानाह हॉलिडे के दिन जेल से भागे इन कैदियों में चार आतंकवादी (दोषी साबित) और एक संदिग्ध आतंकी शामिल है. सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए 400 कैदियों को शिफ्ट किया गया. कैदी जेल में बनी सुरंग की मदद से भागे. ये एक हैरान कर देने वाली घटना इसलिए है, क्योंकि गिलबोआ जेल को इजरायल की सबसे सुरक्षित जेल माना जाता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here