जॉब ऑफर हो तो ऐसा! नई नौकरी पर महंगी बाइक और iPhone का ऑफर, टेस्‍ट में बैठने के लिए भी मिल रहा पैसा

0
311

प‍िछले कुछ समय में कोरोना वायरस महामारी की वजह से बड़ी संख्‍या में लोगों को नौकरी से हाथ धोना पड़ा है. हालांकि, आर्थिक गतिविधियां एक बार फिर से शुरू होने के साथ ही इसमें सुधार भी देखने को मिली है. इन्‍फॉर्मेशन टेक्‍नोलॉजी सेक्‍टर की कंपनियों में काम करने वाले लोगों के लिए नौकरियों की कोई कमी नहीं है. हालत यह है कि अगर आपको इस सेक्‍टर में कुछ सालों का अनुभव है तो इस बात की पूरी संभावना है कि आपके हाथ में एक से ज्‍यादा जॉब ऑफर हो. यही कारण है कि इस सेक्‍टर में धड़ाधड़ इस्तीफे का दौर भी चल रहा है.

हालांकि, यह भी कहा जा रहा है कि नियुक्तियों के लिए पर्याप्‍त योग्‍य लोग नहीं है. इसीलिए योग्‍य उम्‍मीदवारों को नियुक्‍त करने के लिए कंपनियां कई तरह के पेशकश कर लुभाने की कोशिश भी कर रही हैं. उदाहरण के तौर पर देखें तो कई कर्मचारियों को जॉइनिंग बोनस भी दिया जा रहा है.

असेसमेंट टेस्‍ट के लिए भी मिल रहा पैसा

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो फिनटेक फर्म BharatPe नये जॉइन करने वालों BMW बाइक्‍स ऑफर कर रही है. इसके अलावा कुछ कंप‍नियां आईफोन और फ्लेक्‍सी-वर्किंग की भी पेशकश कर रही हैं. कुछ उम्‍मीदवारों को ये कंपनियां अपना असेसमेंट टेस्‍ट देने के लिए 1,000 से 5,000 रुपये तक का भुगतान कर रही हैं.

हर हफ्ते शेड्यूल हो रहे 1,000 से ज्‍यादा इंटरव्यू

आईटी सेक्‍टर में नौकरियों की बाढ़ के बीच रिक्रूटमेंट फर्म्‍स भी मौके को भुना रही हैं. हालांकि, इसके लिए उन्‍हें ओवरटाइम काम भी करना पड़ रहा है. उनके लिए कैंडिडेट के साथ नेगोशिएशन करना भी मुश्किल साबित हो रहा है. एक टैलेंट कंसल्‍टेंसी फर्म का दावा है क‍ि एक सप्‍तह में 1,000 से ज्‍यादा इंटरव्‍यू शेड्यूल हो रहे हैं. इनमें से करीब 40 फीसदी इंटरव्‍यू किन्‍हीं कारणों से रद्द करने पड़ रहे हैं. जबकि, बाकी के बचे 60 फीसदी इंटरव्‍यू में से केवल 75 फीसदी ही शामिल होते हैं.

आईटी कंपनियों में टैलेंट की मांग बढ़ी

इन कंसल्‍टेसी फर्म का कहना है कि अप्रैल महीने तक इन आईटी फर्म्‍स की ओर से टैलेंट डिमांड करीब 5000 थी, लेकिन अब जून की समात्‍प तिमाही तक बढ़कर 20,000 तक पहुंच गई है. टीसीएस, इन्‍फोसिस, एचसीएल और विप्रो जैसी कं‍पनियों द्वारा चालू वित्‍त वर्ष में कुल मिलाकर 1 लाख लोगों को नियुक्त करने की उम्‍मीद है. इसके अलावा कॉग्निजेंट इस साल 1 लाख अनुभवी और 30,000 फ्रेशर्स उम्‍मीदवारों को नियुक्‍त करने वाली है.

जितने कुशल, उतने अधिक ऑफर

कोरोना वायरस महामारी के पहले दो महीनों के दौरान आईटी सेक्‍टर में इतनी नौकरियां नहीं थी. कई बड़े फर्म्‍स में छंटनी तक देखने को मिली. लेकिन पिछली तीन तिमाह‍ियों को देखें तो टैलेंट की मांग में इजाफा हुआ है. फिलहाल चुने गए सभी उम्‍मीदवारों में से करीब 30 से 50 फीसदी जॉब ऑफर को ठुकरा रहे हैं. जो उम्‍मीदवार जितना कुशल है, उनके पास उतने ही अधिक ऑफर हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here