जेपी नड्डा ने सोनिया गांधी को लिखी चिट्ठी, कहा- कोरोना संकट में भी नकारात्मकता फैला रहे हैं कांग्रेस नेता

0
164

देश इस समय कोरोना महामारी से जूझ रहा है। कई राज्य वैक्सीन की कमी से जूझ रहे हैं। वर्तमान में देश के स्वास्थ्य ढांचे की हालत और वैक्सीन संकट के बारे में जब कांग्रेस ने सवाल पूछा तो भाजपा तिलमिल गई। भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कोरोना संकट को लेकर कांग्रेस द्वारा उठाए गए सवालों का कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को एक चिट्ठी के जरिए जवाब दिया है। उन्होंने चिट्ठी में लिखा की कोरोना को लेकर कांग्रेस के नेता नकारात्मकता फैला रहे हैं।

उन्होंने कहा कि मोदी सरकार लगातार कोरोना के खिलाफ लड़ाई लड़ रही है। पीएम मोदी लगातार राज्यों के मुख्यमंत्रियों के संपर्क में हैं और अब तक कोरोना के मुद्दे पर कई बैठकें कर चुके हैं, लेकिन कांग्रेस के नेता कोरोना के मुद्दे पर मोदी सरकार के प्रति लोगों में नकारात्मकता फैला रहे हैं।

उन्होंने आगे कहा, ‘आपकी पार्टी आपके नेतृत्व में लॉकडाउन का उल्लंघन करती है और फिर लॉकडाउन की मांग करती है। वे सरकार द्वारा जारी दिशा-निर्देशों को अनदेखा कर रहे हैं और फिर कहते हैं कि उन्हें कोई जानकारी नहीं मिली। उन्होंने दिशा-निर्देशों का उल्लंघन कर केरल में बड़े पैमाने पर रैलियां कीं, जिससे वहां कोरोना के मामलों में वृद्धि हुई।’

उन्होंने आगे लिखा जब दूसरी लहर में कोरोना के मामले चरम पर थे तो आपके नेताओं ने उत्तर भारत में राजनीतिक कार्यक्रम किए, जिनमें आपके नेता बना मास्क पहने और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किए बिना दिखे। जनता सब जानती है।

उन्होंने चिट्ठी में आगे लिखा की आपके नेताओं ने देश में वैक्सीन के प्रति हिचकिचाहट बढ़ाई जबकि देश में वैक्सीन को लेकर पहले ऐसा कभी नहीं हुआ। नड्डा ने आगे कहा कि वे कोरोना महामारी के इस संकट में कांग्रेस के रवैये से काफी निराश है, लेकिन हैरान नहीं हैं।

वहीं सेंट्रल विस्टा को लेकर कांग्रेस पार्टी द्वारा लगातार उठाए जा रहे सवालों का जवाब देते हुए नड्डा ने लिखा कि अब कांग्रेस पार्टी में नया चलन है कि सारी जिम्मेदारी सेंट्रल विस्टा पर डाल दो। उन्होंने आगे कहा कि नए संसद भवन की मांग यूपीए शासनकाल में उठी थी और अब वह ही इस पर सवाल उठा रही है। मालूम हो कि पिछले कुछ दिनों से कांग्रेस सरकार देश में कोरोना के हालात को लेकर मोदी सरकार पर लगातार निशाना साध रही है। पिछले दिनों सोनिया गांधी ने इस बाबत नरेंद्र मोदी को चिट्ठी भी लिखी थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here