DSGMC द्वारा बनाये गये देश के सबसे आधुनिक किडनी डायलिसिस अस्पताल में मरीज़ों को मिलेगी मुफ़्त सेवाएँ और साथ ही लंगर भी

0
188

20 वर्ष तक बंद रहने के बाद बाला साहिब अस्पताल आज रविवार को यहां फिर शुरू हो गया, जिसमें पंथ रतन बाबा हरबंस सिंह कार सेवा वालों के नाम पर बनाए देश के सबसे बड़े किडनी डायलिसिस अस्पताल का उद्घाटन बाबा बचन सिंह ने गुरूद्वारा बाला साहिब परिसर में किया। यह अस्पताल 24 घंटे काम करेगा। विधिवत उद्घाटन से पहले गुरूद्वारा बंगला साहिब के वरिष्ठ ग्रंथी ज्ञानी रणजीत सिंह जी ने अरदास की। 


इस प्रोजेक्ट के बारे में जानकारी देते हुए दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा व तख्त पटना साहिब प्रबंधक कमेटी के महासचिव हरमीत सिंह कालका ने बताया कि यह पूरी सिख कौम खास तौर पर दिल्ली गुरूद्वारा कमेटी के लिए गर्व करने का मौका है क्योंकि इसने देश के सबसे बड़े अस्पताल को बनाने व शुरू करने के लिए पूरी योजनाबद्ध तरीके से काम किया। उन्होंने बताया कि इस अस्पताल में एक समय में 101 मरीजों का डायलिसिस हो सकेगा व प्रतिदिन 500 मरीजों का डायलिसिस किया जा सकेगा। जल्दी ही इसकी क्षमता बढ़ाकर 1000 बेड करने का काम किया जाएगा।

मनजिंदर सिंह सिरसा ने कहा कि एक अन्य प्राप्ति यह है कि इस तकनीकी तौर पर एडवांस अस्पताल में सभी सेवाएं मुफ्त प्रदान की जाएंगी। अस्पताल में कोई बिलिंग या पेमेंट काउंटर नहीं होगा। इसके अलावा मरीज़ों व उनके साथ आए लोगों को गुरू का लंगर छकाया जाएगा। उन्होंने कहा कि दिल्ली गुरूद्वारा कमेटी बड़े कारपोरेट घरानों से कारपोरेट सोशल रिसपांसीबिल्टी (सी.एस.आर), ऐसे प्रोजेक्ट के लिए योगदान देने वाले सज्जनों के योगदान व सरकारी स्कीमों का पूरा लाभ लेकर इस अस्पताल को चलाएगी। किसी भी मरीज़ के इलाज के लिए कोई पैसा नहीं लगेगा तथा देश के नामचीन डॉक्टर जो पहले ही डायलिसिस के क्षेत्र में हैं इस किडनी डायलिसिस अस्पताल का प्रबंध संभालेंगे।
सिरसा व कालका ने कहा कि चाहे दिल्ली गुरूद्वारा कमेटी जो सिख कौम की संस्था है इस प्रोजेक्ट की मालिक है पर यह अस्पताल समाज के हर वर्ग के लिए खुला है और कोई भी मरीज़ आ कर अपना डायलिसिस करवा सकता है।
उल्लेखनीय है कि श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह ने इस प्राजेक्ट का दौरा किया और समीक्षा करने के बाद कहा था कि उन्हें गर्व महसूस हो रहा है कि दिल्ली गुरूद्वारा कमेटी, जो सिख कौम की संस्था है, देश का सबसे बड़ा किडनी डायलिसिस अस्पताल शुरू करने जा रही है। जत्थेदार ने गुरू हरिकृष्ण पोलीक्लीनिक में सब से सस्ती एम.आर.आई, सी.टी.स्कैन, अल्ट्रा साउंड व अन्य मैडिकल सहुलियतें गुरूद्वारा बंगला साहिब परिसर में शुरू करने की पहलकदमी की प्रशंसा की थी।

आज ज्ञानी रणजीत सिंह जत्थेदार तख्त श्री पटना साहिब ने दिल्ली गुरुद्वारा कमेटी द्वारा किये जा रहे प्रयासों की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि दिल्ली गुरुद्वारा कमेटी का मकसद सुरक्षा व पहुंच वाली मेडिकल सहुलियत को अपने नए विचारों की बदौलत प्रदान करना है और यह दोनों प्रोजेक्ट इसकी प्रत्यक्ष मिसाल हैं। उन्होंने कहा कि महंगे मेडिकल ट्रीटमेंट के इस युग में सब की पहुंच में मेडिकल सहूलियत प्रदान करना समय की जरूरत है व दिल्ली गुरुद्वारा कमेटी इस उद्देश्य की प्राप्ति के लिए काम कर रही है। 

इस मौके पर तख्त श्री पटना साहिब के जत्थेदार ज्ञानी रणजीत सिंह, दिल्ली गुरूद्वारा कमेटी के अध्यक्ष  मनजिंदर सिंह सिरसा, तख्त पटना साहिब प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष जत्थेदार अवतार सिंह हित्त महासचिव हरमीत सिंह कालका, वरिष्ठ नेता कुलदीप सिंह भोगल, वरिष्ठ उपाध्यक्ष रणजीत कौर व अन्य पदाधिकारियों के अलावा किसान नेता राकेश टिकैत, राजिंद्र सिंह चठ्ठा व अन्य गणमान्य शख्सीयतों के अलावा बड़ी गिनती में संगत मौजूद रही। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here