पोर्न केस में फरार अरोपी का दावा-राज कुंद्रा ने गिरफ्तारी से बचने के लिए मुंबई क्राइम ब्रांच को दिए थे 25 लाख

0
225

अश्लील वीडियो मामले में आरोपी राज कुंद्रा को लेकर एक आरोपी ने बड़ा खुलासा किया है। मामले में एक फरार आरोपी का दावा किया है कि राज कुंद्रा ने गिरफ्तारी से बचने के लिए मुंबई पुलिस की क्राइम ब्रांच को 25 लाख रुपये बतौर रिश्‍वत दिए थे। आरोपी का यहां तक कहना है कि पुलिस ने उनसे भी घूस मांगी थी। आरोपी के इस दावे के बाद मुंबई पुलिस सवालों के घेरे में आ गई है।

यश ठाकुर की फर्म ने की थी शिकायत

मिड-डे की रिपोर्ट के मुताबिक, मार्च में रैकेट के सरगना के रूप में वांछित अरविंद श्रीवास्तव उर्फ ​​यश ठाकुर की फर्म ने इसी महीने एक ईमेल के माध्यम से भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) को शिकायत की थी। उस वक्‍त एसीबी ने इस शिकायत को मुंबई पुलिस कमिश्‍नर के ऑफिस में अप्रैल में भेजी थी। हालांकि शहर के पुलिस अफसर इस पर कुछ भी नहीं बोल रहे। बुधवार को क्राइम ब्रांच ने राज कुंद्रा के अंधेरी स्थित ऑफिस में भी छापेमारी की थी।

पुलिस ने सीज किए 4.5 करोड़ रुपये

अरविंद श्रीवास्‍तव की फ्लिज मूवीज नामक फर्म थी। यह पहले न्‍यूफ्लिक्‍स के नाम से थी। यह यूएस बेस्ड फर्म है। इसी फर्म की ओर से मार्च में शिकायत की गई थी। मार्च में पुलिस ने मामले में फर्म को नामजद किया था और इसके मालिक अरविंद श्रीवास्‍तव के दो बैंक अकाउंट को सीज किया था। इन अकाउंट में 4.5 करोड़ रुपये थे। ईमेल में न्‍यूफ्लिक्‍स ने ये भी दावा किया है कि पुलिस के एक खबरी ने फर्म से 25 लाख रुपये की भी मांग की थी।

90 वीडियो की जांच कर रही है टीम

मुंबई क्राइम ब्रांच कुंद्रा के आदेश पर कथित तौर पर बनाए गए 70 वीडियो की जांच कर रही है। सूत्रों ने बताया कि छोटे-छोटे प्रोडक्शन हाउसों द्वारा 70 अश्लील वीडियो बनाए गए थे। एक सूत्र ने कहा कि ये सभी प्रोडक्शन हाउस अब प्रॉपर्टी सेल की जांच के दायरे में हैं। जानकारी दी गई है कि यह सभी वीडियो कामत ने अलग-अलग प्रोडक्‍शन हाउस की मदद से बनाए थे। सूत्र ने कहा कि, इनके अलावा विशेष रूप से कुंद्रा के स्वामित्व वाले ‘हॉटशॉट्स’ ऐप के लिए बनाए गए 90 वीडियो की जांच टीम द्वारा की जा रही है। इन वीडियो में से कुछ की अवधि 20 से 30 मिनट से अधिक है।

राज कुंद्रा पर इन धाराओं में दर्ज हुआ केस

सोमवार को पुलिस ने कुंद्रा को मामले का प्रमुख साजिशकर्ता बताया था, जिसके खिलाफ 4 फरवरी को उपनगरीय मुंबई के मालवानी पुलिस स्टेशन में दर्ज किया गया था। मामले में अब तक कुल 11 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। कुंद्रा पर भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 420 (धोखाधड़ी), 34 (सामान्य इरादा), 292 और 293 (अश्लील और अश्लील विज्ञापनों और प्रदर्शन से संबंधित) के अलावा आईटी अधिनियम की संबंधित धाराओं और अभद्र प्रतिनिधित्व महिला (निषेध) अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है। ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here