पेगासस विवाद पर शशि थरूर ने केंद्र को घेरा, कहा- ये राष्ट्रीय सुरक्षा का मुद्दा, सरकार को सफाई देने की जरूरत

0
251

पेगासस मामले को लेकर कांग्रेस सांसद शशि थरूर केंद्र सरकार पर लगातार हमले बोल रही है. इसी बीच आज शशि थरूर ने टर्वीट करके कहा, ‘यह साबित हो गया है कि भारत में जांचे गए फोन में पेगासस का आक्रमण था. क्योंकि यह उत्पाद केवल सरकार को बेचा जाता है, सवाल उठता है कि कौन सी सरकार? अगर भारत सरकार कहता है कि उन्होंने ऐसा नहीं किया, किसी और सरकार ने किया, तो यह राष्ट्रीय सुरक्षा को लेकर गंभीर चिंता का विषय है.

यदि यह पता चलता है कि यह हमारी सरकार है और यह (ऐसा करने के लिए) अधिकृत है, तो भारत सरकार को स्पष्टीकरण देने की आवश्यकता है क्योंकि कानून केवल राष्ट्रीय सुरक्षा, आतंकवाद के मुद्दों के लिए कम्यूनिकेशन के जरिेए रोक की अनुमति देता है. यह अवैध है.’

‘ये बुरा है यह और भी बुरा है’

वहीं कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने सोमावार को कहा कि अगर भारत सरकार ने ऐसा किया है तो यह बहुत बुरा है. अगर किसी ने अनधिकृत रूप से ऐसा किया है, तो यह और भी बुरा है. यदि कोई विदेशी सरकार कहती है कि चीन या पाकिस्तान ने ऐसा किया है, तो राष्ट्रीय सुरक्षा के लिहाज से हमारी सरकार जांच करानी चाहिए और इसलिए एक स्वतंत्र जांच नितांत आवश्यक है.

राहुल गांधी की सोच का राष्ट्रीय सुरक्षा से कोई लेना-देना नहीं

थरूर ने कहा कि राहुल गांधी और प्रशांत किशोर क्या सोच रहे हैं या राजनेताओं का साक्षात्कार करते समय पत्रकार क्या सोच रहे हैं, इसका राष्ट्रीय सुरक्षा से कोई लेना-देना नहीं है. उन्होंने सवाल किया अगर सरकार ने इसके लिए किसी को अधिकृत नहीं किया और ना ही करना चाहती है, तो ये किसने किया? पेगासस निर्माता एनएसओ ग्रुप का कहना है कि वे इसे केवल सरकारों को बेचते हैं, और सॉफ्टवेयर के लिए इसकी लागत लगभग 70 लाख अमेरिकी डॉलर है. जाहिर है इस तरह का पैसा सिर्फ सरकारें ही खर्च कर पाएंगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here