गणतंत्र दिवस पर आतंकी हमले की धमकी के बाद हाई अलर्ट पर दिल्ली

0
145

गणतंत्र दिवस पर हर साल की तरह इस बार भी दिल्ली पर आतंकी हमले का खतरा मंडरा रहा है। इस बीच आतंकी संगठन सिख फॉर जस्टिस (Sikh for Justice) ने दिल्ली की बिजली काटने की धमकी दी है। इसके बाद दिल्ली पुलिस के साथ खुफिया एजेंसी भी सतर्क हो गई हैं। दिल्ली पुलिस ने गणतंत्र दिवस समारोह के चलते जगह-जगह सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी है। मॉल, सिनेमा हॉल के साथ दिल्ली के बड़े बाजारों में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। खासकर बाहरी राज्यों से आने वाले लोगों की जांच-पड़ताल की जा रही है।

दिल्ली में भारी वाहन रात 8 बजे से होंगे बैन

गणतंत्र दिवस की परेड की रिहर्सल के मद्देनजर शुक्रवार रात 8 बजे से दिल्ली में भारी वाहनों के प्रवेश पर पाबंदी रहेगी। ऐसा सुरक्षा व्यवस्था के मद्देनजर किया गया। किसान आंदोलन के चलते दिल्ली के ज्यादातर बॉर्डर सील हैं, ऐसे में यहां पर सुरक्षा बलों की संख्या को बढ़ाया गया है। असामाजिक तत्वों पर खास नजर रखी जा रही है। दिल्ली का माहौल बिगाड़ने वालों पर कड़ी कार्रवाई का निर्देश पुलिस कमिश्नर की ओर से पहले ही दिया जा चुका है। इसी तरह 25 जनवरी को भी रात 8 बजे के बाद भारी वाहनों को दिल्ली में जाने की अनुमति नहीं है। यातायात पुलिस अधिकारियों के मुताबिक, 26 जनवरी को राजपथ पर मुख्य परेड का आयोजन किया जाना है। इससे पूर्व 23 जनवरी को परेड की रिहर्सल होनी है। इसके चलते शुक्रवार को रात आठ बजे से शनिवार (23 जनवरी) सुबह परेड समाप्त होने और सोमवार (25 जनवरी) रात आठ बजे से मंगलवार (26 जनवरी) दोपहर परेड समाप्त होने तक दिल्ली में भारी वाहनों का प्रवेश बंद रहेगा। 

एनएच-नौ पर यूपी गेट, डाबर तिराहा से महाराजपुर, मोहन नगर से सीमा पुरी, भोपुरा और लोनी बार्डर से बड़े वाहन, गुड्स कैरियर, स्लो मूविंग वाहन का दिल्ली में प्रवेश बंद रहेगा।

सुरक्षा-व्यवस्था चाक चौबंद

पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक देश विरोधी संगठनों द्वारा हर बार इस प्रकार के प्रयास किए जाते हैं, लेकिन पुलिस उनके मंसूबे को कामयाब नहीं होने देगी। पुलिस इन मामलों पर नजर रखे हुए है और दिल्ली की सुरक्षा चाक चौबंद है। अभी तक पुलिस ने कोई मुकदमा दर्ज नहीं किया है।

यहां पर बता दें कि ब्रिटेन से लोगों के पास रिकॉर्ड फोन कॉल आ रही है। इसमें खालिस्तानी संगठन द्वारा आतंकी हमले की बात बताकर लोगों को 26 जनवरी के दिन घर से निकलने से मना किया जा रहा है।  सोमवार को प्रदर्शनकारी पंजाब के किसानों के पास एक वीडियो आया, जिसमें उन्हें गणतंत्र दिवस पर उकसाने की कोशिश की गई है। इस वीडियो में एसएफजे के प्रमुख व आतंकी गुरपतवंत सिंह पन्नू ने कहा है- ‘बीएसईएस राजधानी पावर लिमिटेड और बीएसईएस यमुना पावर लिमिटेड दिल्ली को बिजली प्रदान करती हैं। इस कंपनी का मालिक अंबानी है। नए कृषि कानून से इस कंपनी को ही ज्यादा फायदा होगा। ऐसे में किसान 25 और 26 जनवरी के दिन दिल्ली की बिजली काट दें, जिससे राजधानी में अंधेरा फैल जाए और सरकार किसानों की मांग मांगने को मजबूर हो। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here