दिल्ली में बढ़ाया था दोस्ती का हाथ, त्रिपुरा में ममता बनर्जी ने दिया कांग्रेस को बड़ा झटका, जानिए इस नेता ने थामा TMC का हाथ

0
114

पश्चिम बंगाल की सीएम और तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ममता बनर्जी दिल्ली दौरे के दौरान कांग्रेस अध्यक्षा सोनिया गांधी के साथ ‘चाय पर चर्चा’ में शामिल हुई थी और बीजेपी के खिलाफ गठबंधन का आह्वान किया था, लेकिन दिल्ली में हाथ बढ़ाने के साथ ही त्रिपुरा में कांग्रेस पार्टी को बड़ा झटका दिया है.

दरअसल, पार्टी के एक वरिष्ठ नेता सुबल भौमिक सहित कई अन्य नेताओं ने गुरुवार रात को ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस का दामन थाम लिया. इस दौरान वहां उपस्थित टीएमसी के राज्यसभा के सांसद सांसद डेरेक ओ ब्रायन, पश्चिम बंगाल के मंत्री ब्रात्य बसु और मलय घटक ने सुबल भौमिक को पार्टी का झंडा सौंपा.

बंगाल में जीत के बाद त्रिपुरा में फोकस कर रही है टीएमसी

बता दें कि अगले साल त्रिपुरा में विधानसभा चुनाव है. पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में लगातार तीसरी बार जीत हासिल करने के बाद टीएमसी अन्य राज्यों में फोकस कर रही है. इसके मद्देनजर प्रशांत किशोर की आई पैक की टीम त्रिपुरा सर्वे के लिए पहुंची थी, लेकिन त्रिपुरा सरकार ने उन्हें होटल में नजरबंद कर दिया था. अगरतला पूर्व की पुलिस ने आई पैक टीम को 1 अगस्त को तलब किया. इस बीच, कोलकाता से दो मंत्री त्रिपुरा गए हुए हैं.

कांग्रेस नेता सुबल भौमिक ने थामा टीएमसी का झंडा

बंगाल की मंत्रियों की उपस्थिति में यह कार्यक्रम होटल के अहाते में बृहस्पतिवार की रात को सम्पन्न हुआ. दरअसल यह कार्यक्रम होटल के सभागार में आयोजित होना था लेकिन पुलिस ने कोविड-19 नियमों के मद्देनजर इसे रद्द कर दिया. तृणमूल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता व सांसद डेरेक ओ ब्रायन, पश्चिम बंगाल के मंत्रियों ब्रात्य बसु और मलय घटक ने सुबल भौमिक को पार्टी का झंडा सौंपा. भौमिक कांग्रेस में शामिल होने से पहले बीजेपी के त्रिपुरा इकाई के उपाध्यक्ष भी रह चुके हैं. ओ ब्रायन ने कहा कि ‘अप्रत्याशित घटना’ से बीजेपी की असुरक्षा की भावना जाहिर होती है, जबकि मुख्यमंत्री बिप्लब देब ने कहा कि सभी को कोविड-19 नियमों का पालन करने की आवश्यकता है. कार्यक्रम में पुलिस के हस्तक्षेप की निंदा करते हुए भौमिक ने आरोप लगाया कि उन्हें तृणमूल कांग्रेस में शामिल होने से रोकने लिए यह बीजेपी सरकार का ‘‘सोचा समझा’’ कदम था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here