Twitter को भारत सरकार से पंगा लेना पड़ा भारी, अब तक हो चुका है 1.03 लाख करोड़ रुपए का नुकसान

0
301

भारत सरकार के नए आईटी नियमों को मानने से इंकार करने वाले पॉपुलर माइक्रोब्लॉगिंग साइट Twitter को जोरदार झटका लगा है. सरकार को अड़ियल रवैया दिखाने के चलते उसे कई तरह के छूटों से वंचित कर दिया गया है. साथ ही उसका स्पेशल स्टेट्स भी खत्म होने की कगार पर है. इसका असर कंपनी के शेयरों पर पड़ रहा है. बाजार में ट्विटर के शेयर करीब 25 फीसदी से ज्यादा गिर गए हैं. ये 52 हफ्ते की ऊंचाई से नीचे आ गया है.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक भारत सरकार से ट्विटर के छिड़े विवाद के चलते कंपनी के बाजार पूंजीकरण में 13.87 बिलियन यानी 1.03 लाख करोड़ रुपये की गिरावट आ चुकी है. बुधवार को न्यूयॉर्क स्टॉक एक्सचेंज पर कंपनी का शेयर 0.50 फीसदी की गिरावट के साथ 59.93 डॉलर पर बंद हुआ था. हालांकि अभी कंपनी 60.71 डॉलर के करीब कारोबार करते हुए देखी गई.

  • Hindi News » Business » Twitter share fell after dispute with Indian government on new IT rules, know matter

Twitter को भारत सरकार से पंगा लेना पड़ा भारी, अब तक हो चुका है 1.03 लाख करोड़ रुपए का नुकसान

भारत सरकार से नए आईटी नियमों को लेकर भिड़ना ट्विटर के लिए नुकसानदायक साबित हो रहा है. इससे उसके शेयरों में गिरावट आई है. साथ ही कंपनी को और भी कई नुकसान उठाने पड़ रहे हैं.

  • Soma Roy
  • Updated On – 2:35 pm, Fri, 18 June 21
Twitter को भारत सरकार से पंगा लेना पड़ा भारी, अब तक हो चुका है 1.03 लाख करोड़ रुपए का नुकसान

ट्विटर का भारत सरकार से विवाद

भारत सरकार के नए आईटी नियमों को मानने से इंकार करने वाले पॉपुलर माइक्रोब्लॉगिंग साइट Twitter को जोरदार झटका लगा है. सरकार को अड़ियल रवैया दिखाने के चलते उसे कई तरह के छूटों से वंचित कर दिया गया है. साथ ही उसका स्पेशल स्टेट्स भी खत्म होने की कगार पर है. इसका असर कंपनी के शेयरों पर पड़ रहा है. बाजार में ट्विटर के शेयर करीब 25 फीसदी से ज्यादा गिर गए हैं. ये 52 हफ्ते की ऊंचाई से नीचे आ गया है.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक भारत सरकार से ट्विटर के छिड़े विवाद के चलते कंपनी के बाजार पूंजीकरण में 13.87 बिलियन यानी 1.03 लाख करोड़ रुपये की गिरावट आ चुकी है. बुधवार को न्यूयॉर्क स्टॉक एक्सचेंज पर कंपनी का शेयर 0.50 फीसदी की गिरावट के साथ 59.93 डॉलर पर बंद हुआ था. हालांकि अभी कंपनी 60.71 डॉलर के करीब कारोबार करते हुए देखी गई.

वॉर्निंग के बाद कार्रवाई

ट्विटर को केंद्र ने 5 जून को नए आईटी नियमों का पालन करने की आखिरी वॉर्निंग दी थी, लेकिन ट्विटर पर इस चेतावनी का कोई असर नहीं हुआ, जिसके चलते सरकार को मजबूरन उसकी इंटरमीडियरी प्लेटफॉर्म स्टेटस खत्म करना पड़ रहा है. अब कंटेंट को लेकर किसी भी तरह की शिकायत मिलने पर माइक्रोब्लॉगिंग साइट के खिलाफ कार्रवाई की जा सकती है.

कंपनियों को पालन करना होगा नियम

वित्त मंत्रालय में प्रधान आर्थिक सलाहकार संजीव सान्याल का कहना है कि कंपनियों को भारतीय कानूनों का पालन करना होगा. विशेष रूप से तब जब विदेशी कंपनियां भारत की आंतरिक राजनीतिक बहस में किसी का पक्ष लेती हैं तो ऐसी घटनाएं विदेशी उपनिवेशीकरण को जन्म देती हैं. हालांकि ऐसा करना भौतिक रूप से संभव नहीं है, लेकिन डिजिटल उपनिवेशवाद भी काफी खराब है.

पुलिस कर सकती है पूछताछ

बताया जाता है कि अगर कोई यूजर ट्विटर पर गैरकानूनी या भड़काऊ पोस्ट डालता हो तो भारत में कंपनी के प्रबंध निदेशक समेत शीर्ष अधिकारियों से पुलिस पुलिस पूछताछ कर सकेगी.अगर ट्विटर से उसके अधिकार छीन लिए जाते हैं तो वह अमेरिकन कंपनियों में पहली ऐसी कंपनी होगी जिससे आईटी एक्ट के सेक्शन 79 के तहत सुरक्षा नहीं मिलेगी. वहीं गूगल, यूट्यूब, फेसबुक, वॉट्सऐप और इंस्टाग्राम इससे सुरक्षित रहेंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here