तिहाड़ जेल में बंद अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा राजन की तबीयत बिगड़ी, AIIMS में कराया गया भर्ती

0
302

तिहाड़ तेज में मंगलवार को अचानक अंडरवर्ल्‍ड डॉन छोटा राजन की तबीयत खराब हो गई. जिसके बाद उसे दिल्‍ली के एम्‍स अस्‍पताल में भर्ती कराया गया. ऐसा कहा जा रहा है कि छोटा राजन के पेट में अचानक तेज दर्द होने लगा था. इस समय एम्‍स में ही उसका इलाज चल रहा है.

लकड़वाला मामले में CBI की ‘क्लोजर’ रिपोर्ट स्वीकार

अभी कुछ दिन पहले ही मुंबई की एक विशेष अदालत ने 2001 में बिल्डर और फिल्म फाइनेंसर युसूफ लकड़वाला पर गोली चलाने के मामले में जेल में बंद माफिया सरगना छोटा राजन के खिलाफ सीबीआई द्वारा दायर ‘क्लोजर’ रिपोर्ट को स्वीकार कर लिया. यह रिपोर्ट तब दायर की जाती है जब किसी जांच एजेंसी को लगता है कि आरोपी के खिलाफ कार्रवाई के लिए उसके पास पर्याप्त सबूत नहीं हैं.

विशेष न्यायाधीश ए टी वानखेड़े ने रिपोर्ट को स्वीकार कर लिया और राजन को दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 169 (सबूत की कमी होने पर आरोपी की रिहाई) के तहत ‘रिहा’ करने का निर्देश दिया. अदालत ने राजन को 50,000 रुपये का निजी मुचलका भरने को कहा. अदालत के इस आदेश के बाद भी राजन जेल से बाहर नहीं निकलेगा क्योंकि वह कई अन्य मामलों में सुनवाई का सामना कर रहा है. विशेष लोक अभियोजक प्रदीप घरात ने कहा कि केंद्रीय जांच ब्यूरो ने करीब तीन महीने पहले ‘क्लोजर’ रिपोर्ट दाखिल की थी.

बता दें कि लगभग दो महीने पहले दिल्ली के तिहाड़ जेल में बंद अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा राजन कोरोना पॉजिटिव पाया गया था. उस समय भी उसे इलाज के लिए एम्‍स अस्‍पताल में भर्ती कराया गया था. छोटा राजन को 2015 में इंडोनेशिया के बाली से प्रत्यर्पण संधि के तहत पकड़ कर भारत लाया गया था. मुंबई में उसके खिलाफ कई मामले दर्ज हैं जिन्हें सीबीआई को सौंपा गया था. विशेष न्यायालय में उन मामलों में सुनवाई चल रही है.

छोटा राजन के खिलाफ 70 से अधिक मामले दर्ज

छोटा राजन पर अपहरण, हत्या जैसे 70 से अधिक गंभीर मामले दर्ज हैं. 2011 में उसे पत्रकार ज्योतिर्मय डे की हत्या के मामले में दोषी ठहराया गया था. इस मामले में उसे 2018 में आजीवन कारावास की सजा भी सुनाई गई थी. पिछले हफ्ते मुंबई के विशेष सीबीआई न्यायालय ने 1993 के मुंबई सीरियल ब्लास्ट केस के एक आरोपी हनीफ लकडावाला की हत्या के मामले में छोटा राजन और उसके सहयोगी को दोषमुक्त कर दिया था. छोटा राजन कभी दाउद इब्राहिम का राइट हैंड हुआ करता था लेकिन मुंबई बम धमाके के बाद वो दाउद इब्राहिम की डी कंपनी से अलग हो गया और उसने अपना एक अलग गैंग बना लिया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here