पेट्रोल-डीजल के लगातार बढ़ते दाम की क्या है वजह, 31.82 के तेल का रेट 100 रुपये क्यों ? दुनिया में कहां सबसे सस्ता कहां है Petrol पढ़े पूरी रिपोर्ट

0
206

तेल की कीमतों में लगातार 11वें दिन तेजी के बाद देश में सामान्य पेट्रोल के दाम अब सौ रुपये के पार हो गए हैं। राजस्थान में 100 के बाद पेट्रोल अब और तेजी से बढ़ रहा है तो वहीं मध्य प्रदेश में अपने पहले शतक से केवल 1 रुपये 72 पैसे दूर है। जबकि दोनों राज्यों में ब्रांडेड पेट्रोल पहले से ही 100 के पार बैटिंग कर रहा है। श्रीगंगानगर में ब्रांडेड पेट्रोल 103.59 रुपये तो डीजल  96.50 पैसे लीटर है। वहीं इंदौर में यही पेट्रोल 101.20 रुपये लीटर तो ब्रांडेड डीजल का दाम 92.21 रुपये लीटर है।

23 बार बढ़े दाम
इस साल 23 बार दाम बढ़ चुके हैं।  जनवरी और फरवरी में महज 23 दिन में ही पेट्रोल-डीजल के रेट बढ़े। वहीं इन्ही 23 दिनों में डीजल 6.72 रुपये प्रति लीटर महंगा हो चुका है।  पिछले 10 महीने में ही इसके दाम में करीब 17 रुपये 50 पैसे की बढ़ोतरी हो चुकी है।
अलग-अलग राज्यों में कीमतें अलग-अलग 
ईंधन की कीमतें राज्य के हिसाब से अलग-अलग हैं। इसका कारण राज्यों के द्वारा लगाया जाने वाला मूल्य वर्धित कर (वैट) है। राजस्थान में इसलिए दाम अधिक: राजस्थान में पेट्रोल पर सर्वाधिक वैट वसूला जा रहा है। इस राज्य में पेट्रोल पर 36% और डीजल पर 26% वैट है। श्रीगंगानगर में तेल की आपूर्ति जयपुर या जोधपुर से होती है। अधिक दूरी की वजह से परिवहन खर्च ज्यादा हो जाता है। पेट्रोल जयपुर में श्रीगंगानगर के मुकाबले चार रुपये सस्ता है।  जबकि पिछले दिनों सरकार ने दो प्रतिशत वैट में कटौती की थी।

भारत में तेल पर कितना टैक्स

पेट्रोल का आधार मूल्य 31.82 रुपये है तो डीजल का 33.46 रुपये। पेट्रोल का माल भाड़ा 28 पैसे और 25 पैसे डीजल पर पड़ता है। वहीं अगर केंद्र सरकार द्वारा लगाए उत्पाद शुल्क की बात करें तो मोदी सरकार इस समय पेट्रोल पर 32.90 रुपये व डीजल पर 31.80 रुपये जनता से वसूलती है। इसके बात आता है डीलर का कमीशन, जो पेट्रोल पर 3.68 और डीजल पर 2.51 रुपये प्रति लीटर है। इसके अलाव राज्य सराकारें वैट लेती हैं। 16 फरवरी के आंकड़ों की बात करें तो दिल्ली सरकार एक लीटर पेट्रोल पर 20.61 रुपये और डीजल पर 11.68 रुपये वैट वसूलती है। इस तरह दिल्ली की जनता को एक लीटर पेट्रोल के लिए 16 फरवरी को कुल 89.29 और डीजल के लिए 79.70 रुपये खर्च करने पड़े। 

पेट्रोल-डीजल के रेट में बढ़ोतरी की 3 वजह

कच्चा तेल 13 महीनों में सबसे महंगे स्तर पर

इस साल कच्चा तेल 23% तक महंगा हो चुका है

केंद्र पेट्रोल-डीजल पर उत्पाद शुल्क नहीं घटा रहा

दुनिया में कहां सबसे सस्ता-महंगा

1.45 रुपये वेनेजुएला में सबसे सस्ता पेट्रोल

174.38 रुपये के हिसाब से हांगकांग में सबसे महंगा

पड़ोसी देशों में पेट्रोल सस्ता

भारत (दिल्ली) 90.19

बांग्लादेश 76.41

नेपाल 68.98

भूटान 49.56

पाकिस्तान 51.14

श्रीलंका 60.26

5 साल में दोगुनी कमाई

1.72 लाख कमाए थे केंद्र ने 2014-15 में पेट्रोलियम पदार्थों पर उत्पाद शुल्क से

3.34 लाख करोड़ रुपए पहुंच गया यह आंकड़ा 2019-20 में

43% बढ़ी राज्यों को वैट लगाने से होने वाली कमाई पांच साल में

1.37 लाख करोड़ हुई थी 2014-15 में, 2019-20 में 2 लाख करोड़

78 हजार करोड़ कमाए लॉकडाउन में राज्यों ने अप्रैल-सितंबर में वैट से

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here